1. हिन्दी समाचार
  2. मोदी सरकार के मंत्री बोले- नागरिकता कानून पर इतने विरोध की BJP को भी नही थी उम्मीद

मोदी सरकार के मंत्री बोले- नागरिकता कानून पर इतने विरोध की BJP को भी नही थी उम्मीद

Modi Government Minister Said Bjp Did Not Expect So Much Opposition On Citizenship Law

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं, देश के कई हिस्सो में दंगे भी हुए जिसमें कई लोगों की जान भी चली गयी। वहीं अब केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का कहना है कि जिस तरह से नगारिकता कानून का विरोध हुआ, उतने विरोध की तो बीजेपी को भी उम्मीद नही थी। उन्होने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में बताया कि मैंने वास्तव में ऐसे विरोध प्रदर्शनों को नहीं देखा है। मेरे अलावा बीजेपी के दूसरे नेताओं को इस तरह विरोध की उम्मीद नहीं थी। उनका कहना है कि बीजेपी नागरिकता कानून पर लोगों का मिजाज नही भांप पायी।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ देश के सभी हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हुए, देश की राजधानी दिल्ली समेत देश के कुछ हिस्सों में अभी भी इसको लेकर प्रदर्शन जारी हैं। वहीं अब नागरिकता कानून को लेकर पार्टी के अन्दर भी बयानबाजी शुरू हो गयी है। सरकार के मंत्री का मानना है कि सरकार लोगों के गुस्से को समझने में नाकाम रही। 2014 से लेकर अभी तक मोदी सरकार को सबसे ज्यादा विरोध नागरिकता कानून पर झेलना पड़ा है। इस कानून के मुताबिक पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए शरणार्थियों को शरण देने की बात कही गई है लेकिन इनमें मुस्लिमो को नही शामिल किया गया है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह एक इंटरव्यू में साफ कह चुके हैं कि सीएए नागरिकता के बारे में नहीं है और एनआरसी पर अभी कोई चर्चा नहीं हुई है। जहां पहले विपक्षी पार्टियों व मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा इसका विरोध किया गया वहीं अब बीजेपी और उसके दूसरे सहयोगी संगठन इस मुद्दे पर जागरूकता अभियान चला रहे हैं। इसमें बताया जा रहा है कि ये कानून भेदभाव वाला नहीं है। आरएसएस भी इस कानून के समर्थन में शहरों में अभियान चला रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...