मोदी सरकार का देश व एससी छात्रों को तोहफा, जल्द खुलेंगे अंबेडकर नवोदय विद्यालय

ambedkar
मोदी सरकार का देश व एससी छात्रों को तोहफा, जल्द खुलेंगे अंबेडकर नवोदय विद्यालय

नई दिल्ली। मोदी सरकार जल्द ही देश व खासकर एससी छात्रों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। जल्द ही सरकार जवाहर नवोदय विद्यालय  की तर्ज पर देश में अंबेडकर नवोदय विद्यालय खोलने जा रही है। बताया जा रहा है कि यह स्कूल भी जवाहर नवोदय की तरह से आवासीय होंगे। यह स्कूल उन इलाकों में खोले जाएंगे जहां एससी की आबादी ज़्यादा होगी। बता दें कि इसकी जिम्मेदारी सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Modi Governments Gift To Country And Sc Students Ambedkar Navodaya Vidyalaya Will Open Soon :

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा दी गयी जानकारी में बताया गया कि अंबेडकर नवोदय विद्यालय खोलने के पीछे नरेन्द्र मोदी सरकार का यह मकसद है कि बेहतर संसाधन और अवसर उपलब्ध कराते हुए एससी के मेधावी छात्र-छात्राओं की प्रतिभा को विकसित और प्रोत्सहित किया जाए। जिससे सभी क्षेत्रों में उनका विकास हो सके। हाई एजुकेशन के लिए दूसरे छात्रों के साथ कम्पटीशन कर सकें। वहीं दूसरी ओर रोजगार के अच्छे मौके भी मिल सकें।

बता दें कि कुछ दिनो पहले ही मोदी सरकार ने घोषणा की थी कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों को इंटर कॉलेज तक उच्चीकृत किया जाएगा। केंद्र सरकार का कहना है कि पहले चरण में देश के 350 केजीबीवी को कक्षा 9 से 12 तक उच्चीकृत करने की मंजूरी दी गई है। अभी इन विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक की पढ़ाई होती है।

नई दिल्ली। मोदी सरकार जल्द ही देश व खासकर एससी छात्रों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। जल्द ही सरकार जवाहर नवोदय विद्यालय  की तर्ज पर देश में अंबेडकर नवोदय विद्यालय खोलने जा रही है। बताया जा रहा है कि यह स्कूल भी जवाहर नवोदय की तरह से आवासीय होंगे। यह स्कूल उन इलाकों में खोले जाएंगे जहां एससी की आबादी ज़्यादा होगी। बता दें कि इसकी जिम्मेदारी सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा दी गयी जानकारी में बताया गया कि अंबेडकर नवोदय विद्यालय खोलने के पीछे नरेन्द्र मोदी सरकार का यह मकसद है कि बेहतर संसाधन और अवसर उपलब्ध कराते हुए एससी के मेधावी छात्र-छात्राओं की प्रतिभा को विकसित और प्रोत्सहित किया जाए। जिससे सभी क्षेत्रों में उनका विकास हो सके। हाई एजुकेशन के लिए दूसरे छात्रों के साथ कम्पटीशन कर सकें। वहीं दूसरी ओर रोजगार के अच्छे मौके भी मिल सकें। बता दें कि कुछ दिनो पहले ही मोदी सरकार ने घोषणा की थी कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों को इंटर कॉलेज तक उच्चीकृत किया जाएगा। केंद्र सरकार का कहना है कि पहले चरण में देश के 350 केजीबीवी को कक्षा 9 से 12 तक उच्चीकृत करने की मंजूरी दी गई है। अभी इन विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक की पढ़ाई होती है।