खटिया, कटिया और पत्थरों से यूपी की जनता अब ऊब चुकी है: पीएम मोदी

मीरजापुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को यूपी के मीरजापुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस- सपा के साथ-साथ बीएसपी पर भी जमकर निशाना साधा। इस दौरान पीएम ने सबसे पहले गठबंधन पर हमला बोलते हुए कहा कि यूपी से अब ‘खटिया और कटिया’ के जाने का वक्त आ गया है। साथ ही बीएसपी पर तंज़ कसते हुए कहा कि मायावती को मीरजापुर की पत्थरों से नफरत है।



जनसभा के दौरान मोदी ने यूपी के मुख्यमंत्री के बिजली वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा, ‘आपके नए यार खाट सभा करने निकले थे। 14 सितंबर 2016 को मड़िहान में राहुल जी की खाट सभा थी और वहां उनका हाथ बिजली के तार पर लग गया तो गुलाम नबी आजाद चिल्लाए कि मुसीबत हो जाएगी तो राहुल जी ने कहा कि चिंता मत कीजिए…यह यूपी है यहां तार तो है, पर बिजली नहीं आती। आपके इस नए यार ने ही बता दिया तो मुझे तार छूने की क्या जरूरत है।’ मोदी ने कहा कि यूपी की जनता ने इस बार ऐसा तार बिछाया है कि 11 मार्च को एसपी, बीएसपी और कांग्रेस को करंट लगने वाला है। उन्होंने कहा, ‘अखिलेश जी ने कहा था कि हम तो यहां कटिया डालने से भी नहीं रोकते। एक तरफ खटिया है या दूसरी तरफ कटिया है, अब तो आपका जाना तय है।’

पीएम ने बीएसपी सुप्रीमों मायावती पर हमला करते हुए कहा, ‘बहन जी, यह कैसी शर्मिंदगी है, मीरजापुर के पत्थरों से आपका क्या झगड़ा था, अपनी मूर्तियां बनवाने के लिए पीछे के दरवाजे से पत्थर ले गए, पर जब जांच हुई तो बताया कि पत्थर तो राजस्थान से लाए हैं। क्या मीरजापुर से आपको नफरत है कि यहां का नाम नहीं लिया।’



यूपी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा प्रधानमंत्री ने कहा कि यूपी में चार तरीके से भ्रष्टाचार हो रहा है। नजराना, शुकराना, हकराना और जबराना। उन्होंने कहा, ‘नजराना यानी काम करने से पहले पैसा, शुकराना यानी काम होने के बाद, हकराना मतलब फाइल आगे नहीं बढ़ेगी और जबराना यानी काम भी नहीं करेंगे और पैसा भी दो।’ पीएम मोदी ने कहा कि इन चार तरह के भ्रष्टाचार के इलाज की सिर्फ एक ही दवाई है और वह है हराना।




इस दौरान मोदी ने दावे करते हुए कहा कि इस बार यूपी की जनता यहां विकास चाहती है और इसके लिए यहां की जनता की पहली पसंद बीजेपी है। इसी वजह से यूपी में इस बार बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बन रही है।