मोदी के मंत्री बोले- मनोज तिवारी को दिल्ली का मुख्यमंत्री बनाकर ही लेंगे दम

mantri
मोदी के मंत्री बोले- मनोज तिवारी को दिल्ली का मुख्यमंत्री बनाकर ही लेंगे दम

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) भाजपा उत्तर पूर्वी दिल्ली से सांसद और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) के नेतृत्व में लड़ेगी। यह ऐलान केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को एक कार्यक्रम में कहा, ‘भाजपा दिल्ली विधानसभा का चुनाव मनोज तिवारी जी के नेतृत्व में ही लड़ेगी। हम उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के बाद ही आराम करेंगे।’  

Modis Minister Said Manoj Tiwari Will Be Appointed As The Chief Minister Of Delhi :

हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘मुख्यमंत्री केजरीवाल कहते हैं कि दिल्ली का पानी इतना खराब नहीं है। अरे भाई अगर इतना खराब नहीं है तो एक लीटर पीकर दिखा दो। पता लग जाएगा खराब है या नहीं।’ बता दें बीआईएस की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि दिल्ली शहर का पानी पीने के लिहाज से सबसे ज्यादा असुरक्षित है।  

इसके बाद दिल्ली सरकार ने भी पीने की पानी की गुणवत्ता रिपोर्ट जारी की। जल बोर्ड के चेयरमैन दिनेश मोहनिया ने बताया था कि 11 जगहों में से 2 जगहों के सैंपल नहीं लिए जा सके हैं। उन्होंने कहा था कि 9 में से 8 सैंपल सभी 31 मानकों पर खरे उतरे हैं। वहीं एक सैंपल एक पैरामीटर पर खरा नहीं उतरा है।  

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) भाजपा उत्तर पूर्वी दिल्ली से सांसद और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) के नेतृत्व में लड़ेगी। यह ऐलान केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को एक कार्यक्रम में कहा, 'भाजपा दिल्ली विधानसभा का चुनाव मनोज तिवारी जी के नेतृत्व में ही लड़ेगी। हम उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के बाद ही आराम करेंगे।'   हरदीप सिंह पुरी ने कहा, 'मुख्यमंत्री केजरीवाल कहते हैं कि दिल्ली का पानी इतना खराब नहीं है। अरे भाई अगर इतना खराब नहीं है तो एक लीटर पीकर दिखा दो। पता लग जाएगा खराब है या नहीं।' बता दें बीआईएस की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि दिल्ली शहर का पानी पीने के लिहाज से सबसे ज्यादा असुरक्षित है।   इसके बाद दिल्ली सरकार ने भी पीने की पानी की गुणवत्ता रिपोर्ट जारी की। जल बोर्ड के चेयरमैन दिनेश मोहनिया ने बताया था कि 11 जगहों में से 2 जगहों के सैंपल नहीं लिए जा सके हैं। उन्होंने कहा था कि 9 में से 8 सैंपल सभी 31 मानकों पर खरे उतरे हैं। वहीं एक सैंपल एक पैरामीटर पर खरा नहीं उतरा है।