1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Mohali Attack : मोहाली ब्लास्ट में टीएनटी का हुआ प्रयोग, डीजीपी बोले- यह हमारे लिए चुनौती

Mohali Attack : मोहाली ब्लास्ट में टीएनटी का हुआ प्रयोग, डीजीपी बोले- यह हमारे लिए चुनौती

पंजाब पुलिस (Punjab Police) के खुफिया विभाग (Intelligence Department) के दफ्तर पर हुए रॉकेट लॉन्चर (Rocket Launcher) हमले मे ट्राइनाइट्रो टोलीन (TNT) पदार्थ का प्रयोग हुआ था। यह खुलासा पंजाब पुलिस (Punjab Police) के डीजीपी वीके भवरा (DGP VK Bhavara) ने खुद किया है। मोहाली में विभिन्न विंगों के अधिकारियों के साथ खुफिया दफ्तर के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए भवरा ने कहा कि इस हमले को वह चैलेंज के रूप में ले रहे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Mohali Attack : पंजाब पुलिस (Punjab Police) के खुफिया विभाग (Intelligence Department) के दफ्तर पर हुए रॉकेट लॉन्चर (Rocket Launcher) हमले मे ट्राइनाइट्रो टोलीन (TNT) पदार्थ का प्रयोग हुआ था। यह खुलासा पंजाब पुलिस (Punjab Police) के डीजीपी वीके भवरा (DGP VK Bhavara) ने खुद किया है। मोहाली में विभिन्न विंगों के अधिकारियों के साथ खुफिया दफ्तर के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए भवरा ने कहा कि इस हमले को वह चैलेंज के रूप में ले रहे हैं।

पढ़ें :- India and New Zealand T20 Series: भारत ने न्यूजीलैंड को 168 रनों से हराया, सीरीज पर भी किया कब्जा

पुलिस को हमले से जुड़ी कई अहम जानकारी मिली हैं। जिन पर पुलिस की टीम काम कर रही हैं। उम्मीद है कि जल्दी ही यह केस हल कर लिया जाएगा। इसे आतंकी हमला न मानने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है। आपको बताया जाएगा कि यह किस तरह का हमला है। डीजीपी (DGP) करीब ढ़ाई मिनट मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर उन्होंने जिला प्रशासन पुलिस और अन्य टीमों के साथ बैठक की है।

 

हमले के समय कोई नहीं था कमरे में

डीजीपी (DGP) ने बताया कि हमलावरों ने रात के समय हमला किया है। जिस समय हमला किया गया, उस समय उस कमरे में कोई भी मौजूद नहीं था। पंजाब पुलिस ने हमला होने के बाद कुछ ही घंटों में कई लोगों को राउंडअप किया था। पूछताछ की जा रही है। डीजीपी (DGP) से जब पूछा गया कि इस मामले में कितने लोगों की गिरफ्तारी हुई है तो उनका कहना था कि जब गिरफ्तारी होगी तो आपको बता दिया जाएगा। अभी पुलिस की टीम में काम कर रही हैं।

पढ़ें :- India and New Zealand T20 Series: शुभमन गिल के तूफानी शतक के साथ टीम इंडिया ने दिया न्यूजीलैंड को 235 रनों का लक्ष्य

मोहाली में हमले की घटना पर सीएम भगवंत मान (CM Bhagwant Mann) ने कहा कि पंजाब का माहौल खराब करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। मंगलवार को उन्होंने इस मामले में डीजीपी और अन्य खुफिया अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी। मान ने कहा कि आरोपियों को कड़ी सजा दी जाएगी। शाम तक स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी। जांच जारी है।

मोहाली में खुफिया मुख्यालय पर हमले के संबंध में सोहाना थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईआर 307 आईपीसी, 16 यूएपीए और 03 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एसआई बलकार सिंह के बयान पर दर्ज की गई है। वहीं पंजाब पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने पुष्टि की कि मोहाली पंजाब इंटेलिजेंस बिल्डिंग (Punjab Police Intelligence) ब्लास्ट के सिलसिले में 11 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।

मान ने बुलाई  बैठक

मोहाली में पंजाब पुलिस (Punjab Police)  के खुफिया विभाग के दफ्तर पर अटैक के बाद पूरे पंजाब में हाई अलर्ट है। सीएम भगवंत मान (CM Bhagwant Mann)  ने सुबह इस मामले में डीजीपी समेत सभी बड़े पुलिस अधिकारियों की एक बैठक बुला ली है। वहीं मामले की जांच के लिए एनआईए की टीम भी मोहाली आ रही है।

चलती कार से किया हमला

पढ़ें :- India and New Zealand T20 Series: शुभमन गिल का तूफानी पानी, 54 गेंदों में जड़ा शतक

मोहाली में पंजाब इंटेलिजेंस के दफ्तर पर सोमवार रात को रॉकेट लांचर से किया गया हमला चलती कार से किया गया था। पुलिस सूत्रों के अनुसार, हमला करने वाले स्विफ्ट कार में आए थे और उन्होंने चलती कार से ही इमारत को निशाना बनाया था। यह वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है। वहीं रॉकेट लांचर से हमले की सूचना के बाद मोहाली ही नहीं बल्कि ट्राइसिटी के अधिकारी हरकत में आ गए। एसएसपी चंडीगढ़ कुलदीप सिंह चहल (SSP Chandigarh Kuldeep Singh Chahal), एसएसपी मोहाली विवकेशील सोनी (SSP Mohali Viveksheel Soni) ने मौके पर पहुंचकर सारे तथ्यों की पड़ताल की।

मोहाली पुलिस (Mohali Police) के मुताबिक सोमवार देर शाम करीब सात बजकर 45 मिनट पर विस्फोट की सूचना मिली। जब यह हमला हुआ उस समय अधिकतर मुलाजिम मुख्यालय से घर निकल गए थे। केवल सुरक्षा में तैनात स्टाफ ही वहां पर तैनात था। पुलिस ने बताया कि रॉकेट नुमा हथियार 25-30 मीटर की दूरी से फेंका गया, जिससे यह सीधे इमारत की खिड़की और शीशे को तोड़ते हुए मुख्यालय के मेज के पास गिरा। हमले के तुरंत बाद सीनियर अधिकारी मौके पर पहुंचे और तत्काल पूरे एरिया को पुलिस ने घेर लिया।

सीएम ने दिए  जांच के आदेश

सीएम भगवंत मान ने इस पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने ट्वीट किया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने डीजीपी से पूरे मामले की रिपोर्ट मांग ली है। इसके बाद पूरे पंजाब में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

बिल्डिंग की लाइट बंद कर दी गई

खुफिया मुख्यालय में हमले के बाद इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है। जांच की टीम मौके पर हैं, लेकिन इसी बीच दफ्तर की लाइट बंद कर दी गई। अमूमन ऐसी किसी घटना के बाद सभी लाइट ऑन कर दी जाती है, लेकिन धमाके के बाद यहां बिल्डिंग की लाइट को बंद कर दिया गया।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ने इटावा लायन सफ़ारी का वीडियो ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर बोला करारा हमला

पुलिस नहीं मान रही आतंकी हमला

पुलिस ने हमले में फिल्हाल आतंकी एंगल से इंकार किया है। हालांकि एसपी से यह पूछे जाने पर कि क्या इसे आतंकवादी हमला माना जा सकता है तो मोहाली के एसपी (मुख्यालय) रविंदर पाल सिंह ने कहा कि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। हम इसकी जांच कर रहे हैं।

इससे पहले मोहाली पुलिस (Mohali Police) द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कह गया था कि मोहाली के सेक्टर 77 में एसएएस नगर में पंजाब पुलिस इंटेलिजेंस हेड क्वार्टर (Punjab Police Intelligence Head Quarter) में सोमवार शाम करीब 7:45 बजे एक मामूली विस्फोट की सूचना मिली। किसी नुकसान की सूचना नहीं है। वरिष्ठ अधिकारी मौके पर हैं और जांच की जा रही है। फोरेंसिक टीमों को बुलाया गया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...