1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Mohali Blast : पंजाब पुलिस ने आरोपी निशान सिंह को तरनतारन से किया गिरफ्तार, तीन दिन से था गायब

Mohali Blast : पंजाब पुलिस ने आरोपी निशान सिंह को तरनतारन से किया गिरफ्तार, तीन दिन से था गायब

Mohali Blast : मोहाली के सेक्टर-77 स्थित पंजाब पुलिस (Punjab Police) के खुफिया विभाग के मुख्यालय पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG ) हमले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। फरीदकोट पुलिस (Faridkot Police) ने इस मामले में तरनतारन जिले (Tarn Taran District) के गांव कुल्ला निवासी निशान सिंह को पकड़ा है। आरोपी को मोहाली पुलिस (Mohali Police) के हवाले कर दिया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Mohali Blast : मोहाली के सेक्टर-77 स्थित पंजाब पुलिस (Punjab Police) के खुफिया विभाग के मुख्यालय पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG ) हमले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। फरीदकोट पुलिस (Faridkot Police) ने इस मामले में तरनतारन जिले (Tarn Taran District) के गांव कुल्ला निवासी निशान सिंह को पकड़ा है। आरोपी को मोहाली पुलिस (Mohali Police) के हवाले कर दिया गया है।

पढ़ें :- यूपी देश के टॉप-4 राज्यों में शामिल, 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने का आंकड़ा किया पार

 

प्राथमिक जांच में सामने आया है कि आरोपी निशान के पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरविंदर रिंदा (Terrorist Harvinder Rinda) के साथ संबंध है। उसके साथ बातचीत करने के सबूत भी सामने आए हैं। वहीं आरोपी के परिजन कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर रहे है, लेकिन उन्होंने इतना जरूर कहा कि तीन दिन से निशान गायब था।

फरीदकोट अपराध जांच एजेंसी (CIA) को सूचना मिली थी कि कुल्ला के रहने वाले निशान सिंह (Nishan Singh)  के मोहाली धमाका मामले में तार जुड़ रहे हैं। पुलिस ने उसकी लोकेशन ट्रेस (Location Trace)किया। बुधवार तड़के टीम ने उसे गांव में गिरफ्तार कर लिया। गांव कुल्ला भारत-पाकिस्तान सीमा (India-Pakistan Border) के काफी पास है। निशान सिंह एक बी श्रेणी का अपराधी है। कुछ समय पहले ही वह फरीदकोट जेल (Faridkot Jail) से जमानत पर बाहर आया था। आते ही, उसके लिंक आतंकियों के साथ जुड़ गए।

पुलिस के अनुसार, निशान सिंह की गिरफ्तारी सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी कामयाबी है। अब इस मामले के साथ जुड़े अन्य अपराधियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है। जानकारी के अनुसार, जिस ग्रेनेड से मोहाली में खुफिया विभाग (Intelligence Department) में हमला किया गया, वह रूस निर्मित था। इसका इस्तेमाल जम्मू-कश्मीर तथा तालिबान में होता है। इससे साफ साबित हो जाता है कि ग्रेनेड पाकिस्तान से ही आया था।

पढ़ें :- Shanti Bhushan Passes Away: पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण नहीं रहे, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

तरनतारन के एसएसपी रंजीत सिंह ढिल्लों (SSP Ranjit Singh Dhillon) ने बताया कि निशान सिंह (Nishan Singh) के खिलाफ मोगा, फरीदकोट, अमृतसर, तरनतारन और जिला गुरदासपुर में लगभग 12 मामले दर्ज हैं। जरूरत पड़ी तो उसे पूछताछ के लिए तरनतारन भी लाया जा सकता है। मोहाली पुलिस का पूरा सहयोग किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...