पश्चिम बंगाल की CM ममता से मिलीं मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां, सुनाया दुखड़ा

hasin-jahan

कोलकाता। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। कोलकाता में मुख्यमंत्री कार्यालय में मुलाकात करने पहुंची हसीन जहां ने कहा कि वो चाहती हैं कि सीएम ममता बनर्जी इस मामले की जांच कराएं। उन्हें इस मामले में न्याय चाहिए, इसीलिए वो मुख्यमंत्री के पास आई हैं। गौरतलब है कि हसीन जहां ने अपने पति शमी के ऊपर घरेलू हिंसा, विवाहेतर संबंध रखने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं।

Mohammed Shami Wife Hasin Jahan West Bengal Cm Mamata Banerjee :

हसीन जहां ने कहा था, मैं हाथ जोडक़र आदरणीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहना चाहती हूं कि मैंडम मेरी लड़ाई सच्चाई के लिए है, मुझे सताया गया है। मेरी कोई गलती नहीं है, मैं आपसे समर्थन नहीं चाहती हूं। मैं सिर्फ अपील करती हूं कि सच्चाई के लिए मेरी इस जंग पर आप निगाहें बनाये रखें।

शमी की पत्नी ने उन पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगाए थे जिस पर संज्ञान लेते हुए सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) से शमी के खिलाफ जांच करने को कहा था। एसीयू ने सीओए को अपनी रिपोर्ट सौंपी दी है जिसमें शमी को बेगुनाह पाया गया है। इसके बाद सीओए ने बीसीसीआई से शमी को केंद्रीय अनुबंध में शामिल करने को कहा।

हसीन जहां ने कहा था कि शमी ने दुबई में पाकिस्तान की महिला से मुलाकात की और उससे पैसे लिए। बीसीसीआई अधिकारियों ने इसे भी गलत पाया। शमी और उनके परिजनों के खिलाफ आठ मार्च को हसीन की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था।

कोलकाता। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। कोलकाता में मुख्यमंत्री कार्यालय में मुलाकात करने पहुंची हसीन जहां ने कहा कि वो चाहती हैं कि सीएम ममता बनर्जी इस मामले की जांच कराएं। उन्हें इस मामले में न्याय चाहिए, इसीलिए वो मुख्यमंत्री के पास आई हैं। गौरतलब है कि हसीन जहां ने अपने पति शमी के ऊपर घरेलू हिंसा, विवाहेतर संबंध रखने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं।हसीन जहां ने कहा था, मैं हाथ जोडक़र आदरणीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहना चाहती हूं कि मैंडम मेरी लड़ाई सच्चाई के लिए है, मुझे सताया गया है। मेरी कोई गलती नहीं है, मैं आपसे समर्थन नहीं चाहती हूं। मैं सिर्फ अपील करती हूं कि सच्चाई के लिए मेरी इस जंग पर आप निगाहें बनाये रखें।शमी की पत्नी ने उन पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगाए थे जिस पर संज्ञान लेते हुए सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) से शमी के खिलाफ जांच करने को कहा था। एसीयू ने सीओए को अपनी रिपोर्ट सौंपी दी है जिसमें शमी को बेगुनाह पाया गया है। इसके बाद सीओए ने बीसीसीआई से शमी को केंद्रीय अनुबंध में शामिल करने को कहा।हसीन जहां ने कहा था कि शमी ने दुबई में पाकिस्तान की महिला से मुलाकात की और उससे पैसे लिए। बीसीसीआई अधिकारियों ने इसे भी गलत पाया। शमी और उनके परिजनों के खिलाफ आठ मार्च को हसीन की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था।