1. हिन्दी समाचार
  2. होम क्वारंटीन में रह रहे मरीजों की मोबाइल एप की मदद से करें निगरानी : केंद्र सरकार

होम क्वारंटीन में रह रहे मरीजों की मोबाइल एप की मदद से करें निगरानी : केंद्र सरकार

Monitoring Of Patients Living In Home Quarantine With The Help Of Mobile App Central Government

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि होम क्वारंटीन में रहने वाले लोगों की मोबाइल से निगरानी की जाए। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा के साथ राज्य के प्रतिनिधियों की बैठक में यह मुद्दा उठाया गया। इस पर केंद्र ने कहा कि मोबाइल एप की सहायता से क्वारंटीन में रह रहे लोगों पर निगरानी की जा सकती है।

पढ़ें :- तमिलनाडु चुनाव से पहले ही शशिकला ने राजनीति से लिया सन्यास, कहा- सत्ता की लालसा नहीं

इसके साथ ही सरकारी अस्प्तालों में​ बिस्तरों के घिरे और निजी अस्पतालों के द्वारा रुपयों की वसूली का भी मुद्दा उठाया गया। केंद्र सरकार ने बताया कि तमिलनाडु और कर्नाटक सरकार ने खर्च को लेकर एक सीमा बना दी है, बाकी राज्यों को भी इस प्रणाली को अपनाना चाहिए।

दरअसल, तेलंगाना के प्रतिनिधि ने निजी अस्पतालों का मुद्दा उठाया था, जबकि पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र के प्रतिनिधि बता चुके थे कि मेट्रो समेत कई सार्वजनिक परिवहनों की दिक्कतें सामने आ रही हैं। महाराष्ट्र के मुख्य सचिव अजॉय मेहता ने लोकल ट्रेन के परिचालन की सलाह दी। अजॉय मेहता ने कहा कि दफ्तर में कुल 15-20 फीसदी लोगों को ही अनुमति मिलनी चाहिए।

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने बताया कि झोपड़-पट्टी और ज्यादा जनसंख्या वाले इलाकों में हर घर में टेस्टिंग करने में दिक्कत आ रही है। होम क्वारंटीन में रह रहे लोगों को ट्रैक करने में काफी परेशानी आ रही है। राजीव गौबा ने राज्यों को अपनी एंबुलेंस सेवा दुरुस्त करने के लिए और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि मरीज ज्यादा समय एंबुलेंस में ना बिताए।

इधर महाराष्ट्र के प्रतिनिधियों ने बताया कि राज्य में कुछ मापदंड तय किए गए हैं। अगर कोई मरीज की मृत्यु 36-48 घंटे में हो रही है, तो इसका मतलब ये जिलास्तर पर निगरानी में असफलता को दर्शाता है।

पढ़ें :- हाथरस गोलीकांड: सीएम योगी ने सपा पर साधा निशाना, कहा- हर अपराधी के साथ समाजवादी शब्द क्यों

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...