समय से पहले आए मानसून ने कवर किए कई राज्य: मौसम विभाग

monsoon

नई दिल्ली: भारत के मौसम विभाग (IMD) ने गुरुवार को कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून पूरे दिल्ली और देश के अधिकांश हिस्सों को कवर किया है। आधिकारिक तौर पर 27 जून को इसकी शुरुआत से पहले राष्ट्रीय राजधानी में बारिश के मौसम के आने की घोषणा की गई है। जैसा कि एचटी ने रिपोर्ट किया है मानसून बुधवार को दिल्ली-NCR में पहुंचा। हालांकि वैज्ञानिकों ने आधिकारिक घोषणा के लिए गुरुवार तक इंतजार किया, क्योंकि बुधवार को सुबह 8:30 बजे तक बारिश नहीं हुई। ये वर्षा की माप के लिए थ्रेशोल्ड समय है।

Monsoon Covered Many States Before Time Meteorological Department :

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान की प्रमुख के साठी देवी ने कहा कि “मौसम मानसून ने पहले ही गुरुवार को पूरे उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब के अधिकांश हिस्सों, चंडीगढ़, हरियाणा और पूरे दिल्ली को कवर किया है।1 जून को अरब सागर के ऊपर बनने वाले चक्रवात निसर्ग और केरल में बारिश के आगमन के साथ, मानसून को मदद मिली। तो बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का सिस्टम बना जो 8 जून के आसपास बनाा।

आईएमडी के अनुसार, मॉनसून कई राज्यों में कम से कम एक सप्ताह तक रहता है। पिछले 20 वर्षों में यह केवल छठी बार है जब दिल्ली ने अपनी अपेक्षित तारीख से पहले मॉनसून को देखा है। 2008 में, यह 15 जून को आया और 2013 में 16 जून को। वैज्ञानिकों के अनुसार, मानसून 1 जून को भारत में पहुंचा और राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्से गुरुवार तक अछूते नहीं रहे। आमतौर पर, मानसून पूरे देश को 8 जुलाई तक कवर करता है।

नई दिल्ली: भारत के मौसम विभाग (IMD) ने गुरुवार को कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून पूरे दिल्ली और देश के अधिकांश हिस्सों को कवर किया है। आधिकारिक तौर पर 27 जून को इसकी शुरुआत से पहले राष्ट्रीय राजधानी में बारिश के मौसम के आने की घोषणा की गई है। जैसा कि एचटी ने रिपोर्ट किया है मानसून बुधवार को दिल्ली-NCR में पहुंचा। हालांकि वैज्ञानिकों ने आधिकारिक घोषणा के लिए गुरुवार तक इंतजार किया, क्योंकि बुधवार को सुबह 8:30 बजे तक बारिश नहीं हुई। ये वर्षा की माप के लिए थ्रेशोल्ड समय है। राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान की प्रमुख के साठी देवी ने कहा कि "मौसम मानसून ने पहले ही गुरुवार को पूरे उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब के अधिकांश हिस्सों, चंडीगढ़, हरियाणा और पूरे दिल्ली को कवर किया है।1 जून को अरब सागर के ऊपर बनने वाले चक्रवात निसर्ग और केरल में बारिश के आगमन के साथ, मानसून को मदद मिली। तो बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का सिस्टम बना जो 8 जून के आसपास बनाा। आईएमडी के अनुसार, मॉनसून कई राज्यों में कम से कम एक सप्ताह तक रहता है। पिछले 20 वर्षों में यह केवल छठी बार है जब दिल्ली ने अपनी अपेक्षित तारीख से पहले मॉनसून को देखा है। 2008 में, यह 15 जून को आया और 2013 में 16 जून को। वैज्ञानिकों के अनुसार, मानसून 1 जून को भारत में पहुंचा और राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्से गुरुवार तक अछूते नहीं रहे। आमतौर पर, मानसून पूरे देश को 8 जुलाई तक कवर करता है।