चार दिन देर से पहुंचेगा मॉनसून, सामान्य से कम वर्षा की संभावना

b

नई दिल्ली। गर्मी के बाद बारिश के मौसम का इंतजार कर रहे लोगों के लिए मॉनसून से जुड़ी खबर आ गई है। मौसम से जुड़ी जानकारी देने वाली एजेंसी ने मंगलवार को बताया है कि मॉनसून 4 जून को भारत में अपनी आधिकारिक दस्तक देगा। यह जानकारी स्काईमेट ने दी है जो मौसम से जुड़ी भविष्यवाणी करती है।

Monsoon Likely To Hit Kerala On June 4 Says Skymet :

मॉनसून की केरल आने लिए तय तारीख 1 जून थी यानी यह समय से थोड़ा सा देरी से आ रहा है। मॉनसून के लेट होने की खबर के साथ यह जानकारी भी मिली कि इसबार सामान्य से कम वर्षा होगी। स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह ने कहा इस सीजन देश के सभी चार क्षेत्रों में सामान्य से कम वर्षा होगी।

पूर्व, पूर्वोत्तर और मध्य भारत में उत्तर पश्चिमी भारत और दक्षिण प्रायद्वीप के मुकाबले कम वर्षा होगी। एजेंसी के मुताबिक मॉनसून 22 मई को अंडमान निकोबार द्वीप पहुंच सकता है। पिछले महीने भी स्काईमेट ने सीजन में सामान्य से कम वर्षा की बात कही थी। बता दें कि इससे पहले 2018 मॉनसून के लिहाज से सबसे खराब साल रहा। 12 क्षेत्रों में बहुत कम बारिश हुई और वहां सूखे का असर देखने को मिला।

नई दिल्ली। गर्मी के बाद बारिश के मौसम का इंतजार कर रहे लोगों के लिए मॉनसून से जुड़ी खबर आ गई है। मौसम से जुड़ी जानकारी देने वाली एजेंसी ने मंगलवार को बताया है कि मॉनसून 4 जून को भारत में अपनी आधिकारिक दस्तक देगा। यह जानकारी स्काईमेट ने दी है जो मौसम से जुड़ी भविष्यवाणी करती है। मॉनसून की केरल आने लिए तय तारीख 1 जून थी यानी यह समय से थोड़ा सा देरी से आ रहा है। मॉनसून के लेट होने की खबर के साथ यह जानकारी भी मिली कि इसबार सामान्य से कम वर्षा होगी। स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह ने कहा इस सीजन देश के सभी चार क्षेत्रों में सामान्य से कम वर्षा होगी। पूर्व, पूर्वोत्तर और मध्य भारत में उत्तर पश्चिमी भारत और दक्षिण प्रायद्वीप के मुकाबले कम वर्षा होगी। एजेंसी के मुताबिक मॉनसून 22 मई को अंडमान निकोबार द्वीप पहुंच सकता है। पिछले महीने भी स्काईमेट ने सीजन में सामान्य से कम वर्षा की बात कही थी। बता दें कि इससे पहले 2018 मॉनसून के लिहाज से सबसे खराब साल रहा। 12 क्षेत्रों में बहुत कम बारिश हुई और वहां सूखे का असर देखने को मिला।