1. हिन्दी समाचार
  2. कोरोना संकट के बीच संसद का मानसून सत्र, इन 11 अध्यादेशों पर होगी चर्चा

कोरोना संकट के बीच संसद का मानसून सत्र, इन 11 अध्यादेशों पर होगी चर्चा

Monsoon Session Of Parliament Amid Corona Crisis These 11 Ordinances Will Be Discussed

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के बीच संसद का 18 दिवसीय मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। मॉनसून सत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय की सभी गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन होगा। 257 सांसदों को सदन के मुख्य कक्ष में और 172 सांसदों को आगंतुकों की गैलरी में बैठाया जाएगा। इसके अलावा लोकसभा के 60 सदस्य राज्यसभा के मुख्य कक्ष में बैठेंगे। 51 सदस्य उच्च सदन (राज्यसभा) की गैलरी में बैठेंगे। शून्यकाल आधे घंटे का होगा और कोई प्रश्नकाल नहीं होगा, हालांकि लिखित प्रश्न पूछे जा सकते हैं और उनका उत्तर मिलेगा।

पढ़ें :- रिया-शौविक पर कसा शिकंजा, एनसीबी ने कोर्ट में कहा-ड्रग्स तस्करी में थे शामिल, कई लोगों को करते थे सप्लाई

जानें क्या रहेगी सत्र की टाइमिंग
मॉनसून सत्र की पहली बैठक सुबह 9 बजे शुरू होगी और 1 बजे खत्म होगी। जबकि 15 सितंबर से अक्टूबर तक सदन की अन्य कार्यवाही एक बजे से शाम सात बजे तक आयोजित की जाएगी। शनिवार और रविवार को कोई छुट्टी नहीं होगी। सदन में प्रवेश करने वाले सभी लोगों के शरीर के तापमान को जांचने के लिए थर्मल गन और थर्मल स्कैनर का उपयोग किया जाएगा। सदन के भीतर 40 स्थानों पर टचलेस सैनिटाइटर लगाए जाएंगे और आपातकालीन मेडिकल टीम और स्टैंडबाय पर एम्बुलेंस की सुविधा भी होगी। सभी सांसद अपनी उपस्थिति डिजिटल माध्यम से दर्ज कराएंगे।

पांच लोकसभा सांसद कोविड-19 पॉजिटिव
सदन के शुरू होने से पहले ही जांच में पांच लोकसभा सांसद कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। अभी और सांसदों का कोरोना टेस्ट चल रहा है।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि संसद सत्र बहुत ही मुश्किल परिस्थिति में शुरू होने जा रहा है। पूरे देश में डर का माहौल है, सासंदों की भी यही स्थिति है। दुनिया में परिस्थितियां तेजी से बदल रही हैं जिस पर संसद में चर्चा करना जरूरी है। आजाद ने कहा, लद्दाख में भारत और चीन की सेना आमने-सामने है और वहां तनाव का माहौल है। जीडीपी गिर चुकी है। महंगाई और नई शिक्षा नीति जैसे कई मुद्दे हैं जिन पर चर्चा जरूरी है। इन मुद्दों के बारे में देश की जनता जानना चाहती है, इसलिए संसद में इस पर चर्चा होनी चाहिए।

मॉनसून सत्र में 11 अहम अध्यादेश
1. टैक्सेशन एंड अदर लॉज आर्डिनेंस, 2020
2. बैकिंग रेगुलेशन( अमेंडमेंट) आर्डिनेंस, 2020
3. सैलरी एंड अलाउंसेज ऑफ मिनिस्टर्स अमेंडमेंट आर्डिनेंस, 2020
4. सैलरी, अलाउंसेज एंड पेंशन ऑफ मेंबर ऑफ पार्लियामेंट अमेंडमेंट आर्डिनेंस 2020
5. एसेंशियल कमोडिटीज अमेंडमेंड आर्डिनेंस
6. फारमर्स प्रोड्यूस ट्रेड एंड कॉमर्स आर्डिनेंस, 2020
7. फार्मर्स एग्रीमेंट ऑन प्राइस एंड फार्म सर्विसेज
8. इंडियन मेडिसिन सेंट्रल काउंसिल आर्डिनेंस, 2020
9. होम्‍योपैथी सेंट्रल काउंसिल आर्डिनेंस,2020
10. एपिडमिक डिजीज अमेंडमेंट आर्डिनेंस,2020
11. इन्‍साल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड आर्डिनेंस, 2020

पढ़ें :- विमल स्पेशल फिल्म 'बलम मोरा रंग रसिया' का भव्य मुहूर्त ताज होटल मे हुआ संपन्न

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...