CNDS का जेई 50 हजार लेते गिरफ्तार, जल्द ही और बड़े अधिकारी होंगे बेनकाब 

je
CNDS का जेई 50 हजार लेते गिरफ्तार, जल्द ही और बड़े अधिकारी होंगे बेनकाब 

मुरादाबाद। मुरादाबाद में एंटी करप्शन की टीम ने एक जेई को 50 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। अस्वनी कुमार नाम का जेई जल निगम की निर्माण एजेंसी सीएनडीएस में तैनात है। जो आवासों के काम के भुगतान के बदले ठेकेदार से रिश्वत की मांग कर रहा था। जिसके बाद ठेकेदार ने एंटी क्रप्शन की टीम से मामले की शिकायत की। आरोपी जेई को पकड़ने के लिए एंटी करप्शन की टीम ने अपना जाल बिछा दिया। जेई को उनके कार्यालय से पैसे लेते हुए रंगे हाथ ग्रिफ्तार किया गया है।

Moradabad Anti Corruption Team Caught Je Red Handed Taking Bribe Of 50 Thousand :

विभाग के ठेकेदार योगेंद्र कुमार त्यागी द्वारा शहर में आवासो का निर्माण कराया गया था। ठेकेदार को काम के बदले कुछ भुगतान पूर्व में विभाग द्वारा कर दिया गया था। जबकि 29 लाख रुपए का भुगतान और किया जाना था। लेकिन जेई अस्वनी कुमार भुगतान करवाने के बदले ठेकेदार से 50 हजार रूपए की मांग कर रहा था। अस्वनी कुमार की हरकत से परेशान ठेकेदार ने एंटी क्रप्शन से मामले की शिकायत की।

जिसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने अपना जाल बिछा दिया। एंटी करप्शन की टीम द्वारा ठेकेदार को पैसे लेकर जेई के पास भेजा गया। जैसे ही जेई ने ठेकेदार से 50 हजार रुपए पकड़े टीम ने जेई को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल जेई को गिरफ्तार कर सिविल लाइन थाने लाया गया है।मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपी जेई को एंटी करप्शन कोर्ट में पेश किया जाएगा। बहरहाल सरकारी विभाग में रिश्वत की इस घटना के बाद एक बार फिर साफ हो गया है की सरकारी विभागों में आज भी करप्शन बदस्तूर जारी है।

आपको बता दें कि ऐसे ही सहारनपुर में पर्दाफाश की टीम ने जल निगम की निर्माण एजेंसी सीएनडीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर का पर्दाफाश किया था। जल्द ही कुछ और भ्रष्ट अधिकारियों का चेहरा बेनकाब होगा।

मुरादाबाद। मुरादाबाद में एंटी करप्शन की टीम ने एक जेई को 50 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। अस्वनी कुमार नाम का जेई जल निगम की निर्माण एजेंसी सीएनडीएस में तैनात है। जो आवासों के काम के भुगतान के बदले ठेकेदार से रिश्वत की मांग कर रहा था। जिसके बाद ठेकेदार ने एंटी क्रप्शन की टीम से मामले की शिकायत की। आरोपी जेई को पकड़ने के लिए एंटी करप्शन की टीम ने अपना जाल बिछा दिया। जेई को उनके कार्यालय से पैसे लेते हुए रंगे हाथ ग्रिफ्तार किया गया है। विभाग के ठेकेदार योगेंद्र कुमार त्यागी द्वारा शहर में आवासो का निर्माण कराया गया था। ठेकेदार को काम के बदले कुछ भुगतान पूर्व में विभाग द्वारा कर दिया गया था। जबकि 29 लाख रुपए का भुगतान और किया जाना था। लेकिन जेई अस्वनी कुमार भुगतान करवाने के बदले ठेकेदार से 50 हजार रूपए की मांग कर रहा था। अस्वनी कुमार की हरकत से परेशान ठेकेदार ने एंटी क्रप्शन से मामले की शिकायत की। जिसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने अपना जाल बिछा दिया। एंटी करप्शन की टीम द्वारा ठेकेदार को पैसे लेकर जेई के पास भेजा गया। जैसे ही जेई ने ठेकेदार से 50 हजार रुपए पकड़े टीम ने जेई को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल जेई को गिरफ्तार कर सिविल लाइन थाने लाया गया है।मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपी जेई को एंटी करप्शन कोर्ट में पेश किया जाएगा। बहरहाल सरकारी विभाग में रिश्वत की इस घटना के बाद एक बार फिर साफ हो गया है की सरकारी विभागों में आज भी करप्शन बदस्तूर जारी है। आपको बता दें कि ऐसे ही सहारनपुर में पर्दाफाश की टीम ने जल निगम की निर्माण एजेंसी सीएनडीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर का पर्दाफाश किया था। जल्द ही कुछ और भ्रष्ट अधिकारियों का चेहरा बेनकाब होगा।