1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मुरादाबाद:दो सगी बहनो की पिटाई का मामला,पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर दर्ज किया मुकदमा,4 आरोपी गिरफ्तार

मुरादाबाद:दो सगी बहनो की पिटाई का मामला,पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर दर्ज किया मुकदमा,4 आरोपी गिरफ्तार

Moradabad Case Of Beating Of Two Sisters In Law Police Filed Case Based On Viral Video 4 Accused Arrested

By a tyagi 
Updated Date

उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद जनपद के मझोला थाना क्षेत्र में दो बहनों की पड़ोसी महिलाओ ने जमकर पिटाई कर दी थी,पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, वायरल वीडियो में 1 दर्ज से ज़्यादा महिलाए दो बहनों की पिटाई करते दिख रही थीं,जिसको हमने ने प्रमुखता से दिखाया था,एसएसपी मुरादाबाद ने ख़बर दिखाए जाने पर ख़बर का संज्ञान लेते हुए मुकदमा दर्ज कर आरोपी पर कार्रवाई कराई है,पुलिस ने वायरल वीडियो की पड़ताल करके नौ महिलाओं और पुरुषों पर मुकदमा दर्ज किया है।

पढ़ें :- BANGAL MISSION: क्या इन स्टार चेहरों की बदौलत बीजेपी कर पायेगी बंगाल फतह ?

मुरादाबाद जनपद के मझोला थाना क्षेत्र के नए गांव में रहने वाली दो बहनों पर क्षेत्र के दबंगों ने जमकर पिटाई कर दी है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, वायरल वीडियो में दिख रहे नौ लोगों को पुलिस ने चिन्हित कर मुकदमा लिखा है, जिसमें अब तक 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, पुलिस ने 3 महिला और एक पुरुष की गिरफ्तारी की है, जो वीडियो में दोनों बहनों को मारते हुए दिख रहे हैं, एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने जानकारी देते हुए बताया एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें कुछ महिलाएं और पुरुष दो युवतियों को मारते हुए दिख रहे है, जिस वीडियो का संज्ञान लेते हुए 9 लोगों पर मुकदमा दर्ज करा गया है जिसमें से अब तक 4 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है,गिरफ्तारी में तीन महिलाएं और एक पुरुष शामिल है बाकी बचे हुए शेष आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द कर ली जाएगी, दोषियों पर पांच विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज करा गया है जिसमे, 427,504,354(ख),323,147 शामिल हैं

भले ही पुलिस ने वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए आरोपियों पर कार्रवाई की है, लेकिन अगर पुलिस मुस्तैदी दिखाती तो इस तरीके की घटना बीच सड़क पर नहीं होती, पुलिस को महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को गंभीरता से लेना पड़ेगा और ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे लोगों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करनी पड़ेगी क्योंकि आगे कोई भी कानून को इस तरीके से हाथ में ना ले सके।

रिपोर्ट:- रूपक त्यागी

पढ़ें :- अखिलेश यादव का सीएम पर वार, कहा- सीएम कहतें हैं ठोंक दो, लेकिन ये नहीं पता किसे ठोंकना है?

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...