कोरोना वायरस को लेकर मुरादाबाद का स्वास्थ्य विभाग एलर्ट

COVID-19
शरीर में खून के थक्के जमा रहा ​कोरोना, किडनी, फेफड़े और मस्तिष्क सर्वाधिक प्रभावित, अमेरिकी डॉक्टर हैरान

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर मुरादाबाद का स्वास्थ्य विभाग एलर्ट है। जिला अस्पताल में अलग से आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया हैं। मुरादाबाद जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी एम सी गर्ग ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनके पास एक लिस्ट उन व्यक्तियों की आई थी जो अलग अलग देशों से यात्रा कर लौटे थे।

Moradabad Health Department Alert About Corona Virus :

इन 70 व्यक्तियों में से 45 लोगों की 28 दिनों की निगरानी करने के बाद निगरानी से हटा दिया गया है बाकी की निगरानी की जा रही है लेकिन कोई लक्षण नजर नहीं आया।

सी एम् ओ ने बताया कि ये लोग ईरान,जर्मनी और चाइना से आये थे। स्वास्थ्य विभाग को कहीं से भी कोरोना संदिग्ध की जानकारी मिलती है तो उसको रोककर उसका सैम्पिल लेकर जांच कराएँगे ताकी उसके सम्पर्क में कम से कम लोग आ सकें।

मुरादाबाद के जिला अस्पताल में कोरोना संदिग्ध के लिए आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है और अस्पताल स्टाफ को पूरी तरह ट्रेनिंग देने के बाद निर्देश दिए हैं। ताकि वो उस मरीज को अच्छी तरह से हैंडिल कर सकें, ओर खुद भी सुरक्षित महसूस करें और जनता को भी सुरक्षित महसूस करा सकें।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर मुरादाबाद का स्वास्थ्य विभाग एलर्ट है। जिला अस्पताल में अलग से आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया हैं। मुरादाबाद जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी एम सी गर्ग ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनके पास एक लिस्ट उन व्यक्तियों की आई थी जो अलग अलग देशों से यात्रा कर लौटे थे। इन 70 व्यक्तियों में से 45 लोगों की 28 दिनों की निगरानी करने के बाद निगरानी से हटा दिया गया है बाकी की निगरानी की जा रही है लेकिन कोई लक्षण नजर नहीं आया। सी एम् ओ ने बताया कि ये लोग ईरान,जर्मनी और चाइना से आये थे। स्वास्थ्य विभाग को कहीं से भी कोरोना संदिग्ध की जानकारी मिलती है तो उसको रोककर उसका सैम्पिल लेकर जांच कराएँगे ताकी उसके सम्पर्क में कम से कम लोग आ सकें। मुरादाबाद के जिला अस्पताल में कोरोना संदिग्ध के लिए आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है और अस्पताल स्टाफ को पूरी तरह ट्रेनिंग देने के बाद निर्देश दिए हैं। ताकि वो उस मरीज को अच्छी तरह से हैंडिल कर सकें, ओर खुद भी सुरक्षित महसूस करें और जनता को भी सुरक्षित महसूस करा सकें।