1. हिन्दी समाचार
  2. मुरादाबाद:लॉक डाउन में कैसा है मुरादाबाद का हाल,देखें क्या चल रहा है महानगर में

मुरादाबाद:लॉक डाउन में कैसा है मुरादाबाद का हाल,देखें क्या चल रहा है महानगर में

Moradabad How Is The Condition Of Moradabad In Lock Down See What Is Going On In The Metropolis

By a tyagi 
Updated Date

पीतलनगरी के नाम से दुनिया में मशहूर मुरादाबाद जनपद कोरोना संकट के बीच भी चर्चाओं में है. एक तरफ जहां पूरे देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादात बढ़ती जा रही है वहीं मुरादाबाद जनपद में आज एक भी संक्रमित मरीज नहीं है. फ्रांस से लौटी जिस छात्रा को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था उसको इलाज के बाद कल जिला अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग लगातार संदिग्धों को तलाश करने और उन्हें कोरोटाइन्ट करने में जुटा है जिसके चलते संक्रमण फैलने का खतरा कम हुआ है. शहर के चार थाना क्षेत्रों को सील किया गया हज साथ ही तबलीगी जमात के लोगों के ठहरने की जगह को जनपद में सेनेटाइज कराया जा रहा है

पढ़ें :- महराजगंज:जनता ने मौका दिया तो क्षेत्र का होगा समग्र विकास: रवींद्र जैन

प्रशासन ने 146 कोरोना संदिग्धों के सेम्पल जांच के लिए भेजे थे जिसमे 78 लोगो की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है,अभी 68 लोगो की रिपोर्ट आनी बाकी है,

शहर के 5 थाना क्षेत्रो को सील कर दिया गया है और वहाँ पर लोगो की आवाजाही बिल्कुल बन्द कर दी गयी है,साथ ही मुरादाबाद नगर निगम द्वारा 70 वार्डो को सेनेटाइज कर रहा है और सेनेटाइज करने का काम लगभग पूरा हो चुका है,

लॉकडाउन के चलते जनपद में प्रशासन ने व्यापक इंतजाम किए है. एक तरफ जहां गरीबों की मदद के लिए राशन ओर भोजन पहुंचाया जा रहा है वहीं पुलिस कर्मी भी डायल-112 की मदद से लोगो तक मदद पहुंचा रहें है. प्रशासन ने शहर में जरूरी सामान की आपूर्ति के लिए मोबाइल वैन सेवा शुरू की है साथ ही मौहल्लों में सब्जी और राशन को गाड़ियों के जरिये भेजा जा रहा है

मंडल मुख्यालय होने के चलते रामपुर ओर अमरोहा के मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है. स्वास्थ्य विभाग ने केंद्रीय पुलिस चिकित्सालय में आइसोलेशन वार्ड तैयार किया है इसके अलावा कई निजी अस्पतालों के डाटा भी तैयार किया गया है जिससे मरीजों की तादात बढ़ने पर इस्तेमाल में लाया जाएगा,

पढ़ें :- GOLD RATE: लगातार दूसरे दिन आई सोने चांदी की कीमतों में बड़ी गिरावट, जानिए आज का भाव

साथ ही मुरादाबाद में 4 सेल्टर होम बनाये गए है जहाँ पर प्रवासी मजदूरों को 14 दिन के लिए कोरन टाइन किया गया है,प्रवासी मजदूरों के लिए स्कूलों में बनाये शेल्टर होम में सैकड़ो की तादात में मजदूर रह रहे है जिनको भोजन की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की गई है।

लॉकडाउन का सख्ती से पालन करे रहें पुलिस प्रशासन के सामने सबसे बड़ी चुनौती आने वाले दिनों में लोगो को कोरोना संक्रमण से बचाने की है. तीस लाख से ज्यादा आबादी होने के बाद भी कोरोना मुक्त हुआ मुरादाबाद इस संकट में एक सकारात्मक संदेश लोगों तक पहुंचाता नजर आ रहा है।

रिपोर्ट:-रूपक त्यागी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...