मुरादाबाद: पुलिस के थर्ड डिग्री टॉर्चर के चलते संविदाकर्मी को पड़ा दिल का दौरा, मौत

moradabad-police
मुरादाबाद: पुलिस के थर्ड डिग्री टॉर्चर के चलते संविदाकर्मी को पड़ा दिल का दौरा, मौत

मुरादाबाद। बिलारी तहसील में नगर पालिका के संविदा कर्मचारी के ऊपर चोरी के एक मामले के खुलासे के लिये पुलिस ने इतना दबाव बनाया कि आज सुबह उसकी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी। कर्मचारी की मौत से आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर रास्ता जाम कर दिया है।

Moradabad Police Third Digree Torcher :

नगर पालिका बिलारी में नन्हे लाइनमेंन के तौर पर संविदा कर्मचारी नियुक्त था। उसकी ड्यूटी वहीं बिलारी कस्बे में लगी हुई थी। बीती 08 मई को बिलारी के बड़े बीज कारोबारी श्रीकांत गुप्ता के यहां अज्ञात चोरों द्वारा नकदी व जेवर चोरी कर लिए गए थे, जिसमें बीज कारोबारी ने नन्हे व उसके दो अन्य साथियों के ऊपर चोरी करने का शक जताया था जिस पर पुलिस ने तीनों कर्मचारियों को उठाकर 4 दिन तक थाने में रखकर पुलिसिया अंदाज में थर्ड डिग्री दी थी, लेकिन जब पुलिस इस घटना का खुलासा नहीं कर पाई और लोगों का दबाव बढ़ता गया तो पुलिस ने तीनों को ही छोड़ दिया।

हालांकि उसके बाद भी पुलिस का उत्पीड़न जारी रहा पुलिस नन्हे के घर कभी देर रात तो कभी दिन में तो कभी सुबह में आने लगी। जिससे इलाके में लोग नन्हे को शक भरी निगाहों से देखने लगे। पुलिस जब दिल चाहे नन्हे को थाने बुलाने लगी इससे नगर पालिका कर्मचारी तनाव में रहने लगा और लोग उसे एक चोर की नज़र से देखने लगे, कल रात भी पुलिस ने नन्हे के घर जाकर उसे सुबह थाने में हाजिरी देने के लिए कहा, जिससे नंन्हे काफी दहशत में आ गया और आज सुबह उसकी दिल की दौरा पड़ने से मौत हो गई।

जैसे ही मौत की खबर नगर पालिका में पहुंची सभी कर्मचारी नन्हे के घर के पास जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे उनका कहना था कि पुलिस ने कारोबारी के कहने पर इतना दबाव बनाया जिसके कारण दहशत में नन्हे की जान ही चली गई, नगर पालिका के मौजूदा पार्षद ने भी नन्हे की मौत पर दुख जताया है और सरकार से उसके परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की है।

सैकड़ों की संख्या में लोग नन्हे का शव लेकर कोतवाली बिलारी पहुंच गये, और वहां शव बीच सड़क पर रख मुरादाबाद आगरा स्टेट हाइवे पर जाम लगा दिया, उनकी मांग थी कि आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही हो, परिजनों को मुआवजा मिले व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नोकरी।

सूचना मिलने पर बिलारी सपा विधायक मोहम्मद फहीम मौके पर पहुंच गये और लोगो को समझा बुझाकर जाम खोलने का अनुरोध करते रहे, लेकिन लोगो ने जाम नही खोला। परिजनों की मांग है पहले सभी मांगे लिखित आश्वासन देकर पूरी की जाएं तभी वो जाम खोलेंगे। कई थानों की फ़ोर्स मौके पर बुलाई गई है।

रिपोर्ट- रूपक त्यागी

मुरादाबाद। बिलारी तहसील में नगर पालिका के संविदा कर्मचारी के ऊपर चोरी के एक मामले के खुलासे के लिये पुलिस ने इतना दबाव बनाया कि आज सुबह उसकी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी। कर्मचारी की मौत से आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर रास्ता जाम कर दिया है। नगर पालिका बिलारी में नन्हे लाइनमेंन के तौर पर संविदा कर्मचारी नियुक्त था। उसकी ड्यूटी वहीं बिलारी कस्बे में लगी हुई थी। बीती 08 मई को बिलारी के बड़े बीज कारोबारी श्रीकांत गुप्ता के यहां अज्ञात चोरों द्वारा नकदी व जेवर चोरी कर लिए गए थे, जिसमें बीज कारोबारी ने नन्हे व उसके दो अन्य साथियों के ऊपर चोरी करने का शक जताया था जिस पर पुलिस ने तीनों कर्मचारियों को उठाकर 4 दिन तक थाने में रखकर पुलिसिया अंदाज में थर्ड डिग्री दी थी, लेकिन जब पुलिस इस घटना का खुलासा नहीं कर पाई और लोगों का दबाव बढ़ता गया तो पुलिस ने तीनों को ही छोड़ दिया। हालांकि उसके बाद भी पुलिस का उत्पीड़न जारी रहा पुलिस नन्हे के घर कभी देर रात तो कभी दिन में तो कभी सुबह में आने लगी। जिससे इलाके में लोग नन्हे को शक भरी निगाहों से देखने लगे। पुलिस जब दिल चाहे नन्हे को थाने बुलाने लगी इससे नगर पालिका कर्मचारी तनाव में रहने लगा और लोग उसे एक चोर की नज़र से देखने लगे, कल रात भी पुलिस ने नन्हे के घर जाकर उसे सुबह थाने में हाजिरी देने के लिए कहा, जिससे नंन्हे काफी दहशत में आ गया और आज सुबह उसकी दिल की दौरा पड़ने से मौत हो गई। जैसे ही मौत की खबर नगर पालिका में पहुंची सभी कर्मचारी नन्हे के घर के पास जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे उनका कहना था कि पुलिस ने कारोबारी के कहने पर इतना दबाव बनाया जिसके कारण दहशत में नन्हे की जान ही चली गई, नगर पालिका के मौजूदा पार्षद ने भी नन्हे की मौत पर दुख जताया है और सरकार से उसके परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की है। सैकड़ों की संख्या में लोग नन्हे का शव लेकर कोतवाली बिलारी पहुंच गये, और वहां शव बीच सड़क पर रख मुरादाबाद आगरा स्टेट हाइवे पर जाम लगा दिया, उनकी मांग थी कि आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही हो, परिजनों को मुआवजा मिले व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नोकरी। सूचना मिलने पर बिलारी सपा विधायक मोहम्मद फहीम मौके पर पहुंच गये और लोगो को समझा बुझाकर जाम खोलने का अनुरोध करते रहे, लेकिन लोगो ने जाम नही खोला। परिजनों की मांग है पहले सभी मांगे लिखित आश्वासन देकर पूरी की जाएं तभी वो जाम खोलेंगे। कई थानों की फ़ोर्स मौके पर बुलाई गई है। रिपोर्ट- रूपक त्यागी