1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. मुरादाबाद:रेलवे कर्मचारियों ने किया काम का बहिष्कार, ग्लव्स व मास्क न मिलने से नाराज़ हैं कर्मचारी, सोशल डिस्टेंस का भी नही हो रहा पालन

मुरादाबाद:रेलवे कर्मचारियों ने किया काम का बहिष्कार, ग्लव्स व मास्क न मिलने से नाराज़ हैं कर्मचारी, सोशल डिस्टेंस का भी नही हो रहा पालन

By रूपक त्यागी 
Updated Date

रेलवे ट्रैक मेन कर्मचारियों को रेलवे ट्रेक पर काम करते समय मास्क और ग्लब्स नही मिलने पर काम का बहिष्कार कर दिया. रेलवे द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नही किया जा रहा है. ट्रेक मेन कर्मचारियों ने मास्क और ग्लब्स उपलब्ध कराने की मांग की. ट्रेक मेन कर्मचारियों ने यह भी आरोप लगाया कि नियम विरुद्ध रेलवे रेलवे ट्रेक पर काम करवा रहा है .ट्रेक कर्मचारियों द्वारा काम नही करने पर अधिकारियों के द्वारा गैरहाजिर लगाई जा रही है, अधिकारियों की मौजूदगी में ग्लब्स और मास्क के बिना रेलवे ट्रेक कर्मी काम कर रहे है.

मुरादाबाद रेलवे द्वारा रेलवे लाइन को दुरुस्त करने के लिए पटरियों के नीचे स्लैब बदलने का कार्य किया जा रहा है. कोरोना वायरस की वजह से जहा रेलवे स्टेशन, प्लेटफार्म को सेन्टाइज किया जा रहा है. वही सभी रेलवे कर्मचारियों को ग्लब्स, मास्क पहनने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखने की हिदायत दी गयी है. लेकिन इस सब नियमो की धज्जियां उड़ती हुई दिखाई दे रही है,प्रभात मार्किट पुल के नीचे रेलवे ट्रैक कर्मियों द्वारा रेलवे पटरी पर स्लैब बदलने का काम शुरू किया गया. लेकिन जैसे ही काम शुरू होने को हुआ सभी ट्रैक कर्मचारियों ने काम करने से मना कर दिया. इस सबकी यह मांग थी कि जब तक सभी कर्मियों को मास्क और ग्लब्स नही उपलब्ध कराए जाएंगे तब तक काम नही करेंगे. जिस पर वहा मौजूद अधिकारियों ने काम नही करने वाले ट्रैक कर्मचारियों की गैरहाजिरी लगा दी. जिस पर ट्रैक कर्मी भड़क गए और रेलवे लाइन पर ही जमकर नारे बाजी करने लगे. रेलवे ट्रेक पर पिडब्लूसी अधिकारी भी मौके पर मौजूद थे जो लाख दावा कर रहे थे कि सभी को मास्क और ग्लब्स दिए गए है लेकिन उन्ही के सामने सभी लोग बिना ग्लब्स और मास्क के काम कर रहे थे. खुद जिस जगह वह बैठे थे वहां भी सोशल डिस्टेंसिंग कही नज़र नही आ रही थी.

ट्रैक कर्मी तिलक कुमार ने बताया कि उनको सुबह समयनुसार अपने काम पर आए थे लेकिन रेलवे अधिकारी नियम के विरुद्ध काम करवा रहे है. उस काम को करने के लिए हमारे पास कोई सेफ्टी इक्यूपमेंट थे ना ही वह कोरोना वायरस के हिसाब से काम करने के लिए ग्लब्स और मास्क नही थे. हमारे पास काम करने के लिए पूर्ण मात्रा में औजार थे. इसलिए हमने काम करने के लिए मना कर दिया इसलिए हमारी आज गैरहाजिरी लगा दी गयी. हमें डिस्टर्ब करने के लिए 45 स्वीपर दी जाती है लेकिन आज 80 पर लगाने के लिए दिए गए ऐसी महामारी के दौर में और कोरोनावायरस काम को करते तो जिस हथौड़े का हम इस्तेमाल करते हैं चार लोगों के पास जाता है तुम्हारे पास कुल 3 हथौड़े नहीं रहती है ऐसी स्थिति में हमारी कोई सोशल डिस्टेंस इन नहीं रहती है नहीं हमारी कोई सेफ्टी रहती हम रोज अपनी तरफ से ग्लव्स व मास्क खरीदते और पहनते हैं

मोहम्मद अनीस पिडब्लूआई ने बताया की जैसे और गैंग को काम दिया गया वैसे ही इस गैंग को भी काम दिया गया. इनको क्या दिक्कत हुई मुझसे कोई बात नहीं बतायी. सब अपना काम बंद करके इकट्ठा हो कर चले आए. सबको मास्क और ग्लब्स दिए गए है. बात करते समय यह पूछे जाने पर की आपके पीछे लेबर बिना ग्लब्स और मास्क के काम कर रही है तो इनका कहना है कि सबको ग्लब्स और मास्क दिए गए अगर यह नही पहन रहे तो इनकी लोगो की मर्जी. ट्रेक मेन कर्मियों का कहना है कि ग्लब्स अच्छी क्वालिटी के नही है वह फट जाते है. काम नही करने पर गैरहाजिरी ऊपर अधिकारियों ने किया होगा मुझको किसी भी तरह की कोई जानकारी नही है।
रूपक त्यागी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...