एक लाख से अधिक मेडिकल स्क्रीनिंग टीम का किया जाए गठन, ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लिए जाएं : योगी आदित्यनाथ

cm yogi
सीएम योगी दो दिवसीय दौरे पर, कोविड-19 को लेकर करेंगे समीक्षा बैठक

लखनऊ। कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई पहल कर चुके हैं, जिसका असर भी देखने को मिला है। वहीं, अब सीएम योगी ने एक लाख से अधिक मेडिकल स्क्रीनिंग टीम के गठन की प्रक्रिया का तत्काल अंतिम रूप देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि की जाए और ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लिया जाए।

More Than One Lakh Medical Screening Teams Should Be Formed More Samples Should Be Taken Yogi Adityan :

सीएम योगी ने कहा कि 11 जिलों में नोडल अधिकारी के तौर पर तैनात प्रशासनिक अधिकारियों तथा वरिष्ठ चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ शासन स्तर से निरंतर संवाद रखा जाए। सीएम ने कहा कि बुधवार को टीम 11 के साथ कोरोना वायरस को लेकर समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि कोरोना संक्रमित को कोविड अस्पतालों में ही रखा जाए।

ऐसे व्यक्तियों के स्वास्थ्य का नियमित परीक्षण किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में इन्हें उपचार हेतु तत्काल कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाए। कोविड अस्पतालों में भर्ती रोगियों के परिजनों से संवाद रखते हुए उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की प्रतिदिन जानकारी दी जाए। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि कामगारों/श्रमिकों को केंर्द व यूपी सरकार की योजनाओं के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाई निरंतर जारी रखी जाए।

कामगारों/श्रमिकों को आवश्यकतानुसार बैंक से ऋण उपलब्ध कराने में एमएसएमई विभाग द्वारा मदद की जाए। सीएम योगी ने पर्यावरण, प्राकृतिक संतुलन एवं जल संरक्षण के लिए वृक्षारोपण की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि 25 करोड़ वृक्षारोपण के लिए कार्ययोजना तैयार करते हुए स्थलों को चिन्हित कर लिया जाए। लक्ष्यों के आवंटन के अनुसार कार्यों का अनुश्रवण भी सुनिश्चित किया जाए। साथ ही, वृ़क्षारोपण कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए।

 

लखनऊ। कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई पहल कर चुके हैं, जिसका असर भी देखने को मिला है। वहीं, अब सीएम योगी ने एक लाख से अधिक मेडिकल स्क्रीनिंग टीम के गठन की प्रक्रिया का तत्काल अंतिम रूप देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि की जाए और ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लिया जाए। सीएम योगी ने कहा कि 11 जिलों में नोडल अधिकारी के तौर पर तैनात प्रशासनिक अधिकारियों तथा वरिष्ठ चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ शासन स्तर से निरंतर संवाद रखा जाए। सीएम ने कहा कि बुधवार को टीम 11 के साथ कोरोना वायरस को लेकर समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि कोरोना संक्रमित को कोविड अस्पतालों में ही रखा जाए। ऐसे व्यक्तियों के स्वास्थ्य का नियमित परीक्षण किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में इन्हें उपचार हेतु तत्काल कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाए। कोविड अस्पतालों में भर्ती रोगियों के परिजनों से संवाद रखते हुए उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की प्रतिदिन जानकारी दी जाए। इसके साथ ही सीएम ने कहा कि कामगारों/श्रमिकों को केंर्द व यूपी सरकार की योजनाओं के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाई निरंतर जारी रखी जाए। कामगारों/श्रमिकों को आवश्यकतानुसार बैंक से ऋण उपलब्ध कराने में एमएसएमई विभाग द्वारा मदद की जाए। सीएम योगी ने पर्यावरण, प्राकृतिक संतुलन एवं जल संरक्षण के लिए वृक्षारोपण की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि 25 करोड़ वृक्षारोपण के लिए कार्ययोजना तैयार करते हुए स्थलों को चिन्हित कर लिया जाए। लक्ष्यों के आवंटन के अनुसार कार्यों का अनुश्रवण भी सुनिश्चित किया जाए। साथ ही, वृ़क्षारोपण कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए।