तिहाड़ में मच्छरों ने उड़ाई पी चिदंबरम की नींद, मेडिकल रिपोर्ट पर जमानत अर्जी भी खारिज

P Chidambaram
तिहाड़ में मच्छरों ने उड़ाई पी चिदंबरम की नींद, मेडिकल रिपोर्ट पर जमानत अर्जी भी खारिज

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम एकबार फिर झटका लगा है। स्वास्थ्य कारणों से चिदंबरम द्वारा मांगी गयी जमानत अर्जी को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। चिदंबरम ने स्वास्थ्य खराब होने का हवाला देते हुए जमानत याचिका डाली थी जिसपर कोर्ट ने एम्स को चिंदबरम की जांच करने के लिए बोर्ड का गठन किया था। लेकिन मेडिकल बोर्ड ने चिदंबरम को एडमिट करने से इन्कार कर दिया है। हलांकि अब चिदंबरम को जेल में मच्छरदानी उपलब्ध करवायी जायेगी।

Mosquitoes Blew P Chidambaram In Tihar Bail Application Also Rejected :

गुरूवार को पी चिदंबरम की स्वास्थ्य के आधार पर मांगी गयी जमानत को लेकर कोर्ट ने एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया था। जब शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड ने कोर्ट में रिपोर्ट पेश की तो उनके मुताबिक चिदंबरम को अस्पताल में भर्ती होने की कोई जरूरत नही थी। कोर्ट ने जमानत तो खारिज कर दी लेकिन जेल प्रशासन को आदेश दिया है कि चिदंबरम का रेगुलर चेकअप किया जाये, उन्हे पीने के लिए मिनरल वाटर दिया जाए साथ ही उनको मच्छरों से बचने के लिए लोशन भी दिया जाए।

मेडिकल बोर्ड के मुताबिक पी चिदंबरम को भर्ती करने की नही बल्कि स्वच्छ वातावरण देने की जरूरत है। आपको बता दें कि इससे पहले भी घर से बने खाने को लेकर चिदंबरम द्वारा अर्जी डाली गयी थी जिसके बाद कोर्ट ने घर का खाना खाने की अनु​मति दे दी थी। अब ​मिनरल वाटर के साथ साथ मच्छरदानी भी दी जायेगी। यही नही जहां पर चिदंबरम को रखा गया है वहां की रोजाना दो बार सफाई भी की जायेगी।

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम एकबार फिर झटका लगा है। स्वास्थ्य कारणों से चिदंबरम द्वारा मांगी गयी जमानत अर्जी को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। चिदंबरम ने स्वास्थ्य खराब होने का हवाला देते हुए जमानत याचिका डाली थी जिसपर कोर्ट ने एम्स को चिंदबरम की जांच करने के लिए बोर्ड का गठन किया था। लेकिन मेडिकल बोर्ड ने चिदंबरम को एडमिट करने से इन्कार कर दिया है। हलांकि अब चिदंबरम को जेल में मच्छरदानी उपलब्ध करवायी जायेगी। गुरूवार को पी चिदंबरम की स्वास्थ्य के आधार पर मांगी गयी जमानत को लेकर कोर्ट ने एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया था। जब शुक्रवार को मेडिकल बोर्ड ने कोर्ट में रिपोर्ट पेश की तो उनके मुताबिक चिदंबरम को अस्पताल में भर्ती होने की कोई जरूरत नही थी। कोर्ट ने जमानत तो खारिज कर दी लेकिन जेल प्रशासन को आदेश दिया है कि चिदंबरम का रेगुलर चेकअप किया जाये, उन्हे पीने के लिए मिनरल वाटर दिया जाए साथ ही उनको मच्छरों से बचने के लिए लोशन भी दिया जाए। मेडिकल बोर्ड के मुताबिक पी चिदंबरम को भर्ती करने की नही बल्कि स्वच्छ वातावरण देने की जरूरत है। आपको बता दें कि इससे पहले भी घर से बने खाने को लेकर चिदंबरम द्वारा अर्जी डाली गयी थी जिसके बाद कोर्ट ने घर का खाना खाने की अनु​मति दे दी थी। अब ​मिनरल वाटर के साथ साथ मच्छरदानी भी दी जायेगी। यही नही जहां पर चिदंबरम को रखा गया है वहां की रोजाना दो बार सफाई भी की जायेगी।