1. हिन्दी समाचार
  2. HRD मिनिस्ट्री का बयान- यूपी मिड-डे मील में भ्रष्टाचार के सबसे ज्यादा मामले

HRD मिनिस्ट्री का बयान- यूपी मिड-डे मील में भ्रष्टाचार के सबसे ज्यादा मामले

Most Cases Of Corruption In Mid Day Meal Scheme In Up Hrd Ministry

By रवि तिवारी 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने सितंबर में मिड-डे मील (Mid-day Meal) में भ्रष्टाचार (Corruption) का मामला उजागर करने पर एक पत्रकार (Journalist) के खिलाफ केस कर दिया था। इस पत्रकार ने मिड-डे मील में बच्चों को रोटी के साथ नमक परोसे जाने के मामले को उजागर किया था।

पढ़ें :- Weather Update: इन इलाकों में बारिश के आसार, दिल्ली-NCR में घना कोहरा...

सोमवार को नागरिक संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’) ने जो आंकड़े लोकसभा में सामने रखे, उनसे उत्तर प्रदेश में मिड-डे मील में होने वाली गड़बड़ी और भी साफ हो जाती है। उनसे मिड-डे मील योजना में भ्रष्टाचार से जुड़ा एक सवाल पूछा गया था।

सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार के मामले यूपी और बिहार से

पिछले तीन सालों में सरकार को मिड-डे मील में भ्रष्टाचार के कुल 52 मामले मिले हैं। जिनमें से मिड-डे मील में भ्रष्टाचार के सबसे ज्यादा मामले (14) उत्तर प्रदेश से हैं। इसके बाद भ्रष्टाचार के मामलों में दूसरा नंबर (7) बिहार (Bihar) का है। इन 52 मामलों में से 47 में जांच जारी है और तीन मामलों में या तो भ्रष्टाचार साबित नहीं हो सका है या फिर उनकी शिकायतों को मिड-डे मील से नहीं जुड़ा पाया गया है।

बीजेपी सांसद डॉ. भारती प्रवीण पवार (Dr Bharti Pravin Pawar) के सवाल के जवाब में पोखरियाल ने सदन को बताया, ‘पिछले तीन सालों में पूरे देश में मिड-डे मील के मामलों में भ्रष्टाचार की कुल 52 शिकायतें आई हैं।

पढ़ें :- Birthday special: दुबई में सेलिब्रेट करेगी नम्रता अपना बर्थड़े, पार्टी में शामिल होंगे ये लोग

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...