ऋषि कुमार शुक्ला के सीबीआई डायरेक्टर पद संभालते ही कांग्रेस मंत्री ने कहे ये अपशब्द

rishi kumar shukla
ऋषि कुमार शुक्ला के सीबीआई डायरेक्टर पद संभालते ही कांग्रेस मंत्री ने कहे ये अपशब्द

नई दिल्ली। सीबीआई के नवनिर्वाचित निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने सोमवार अपना पदभार ग्रहण कर लिया। 1983 बैच के इस आईपीएस अधिकारी ने उस वक्त कुर्सी संभाली, जब कोलकाता पुलिस और सीबीआई व केन्द्र तथा पश्चिम बंगाल सरकारें एक-दूसरे के सामने खड़ी हैं।

Mp Congress Neta Says This About New Cbi Chief Rishi Kumar Shukla After He Take Charge :

सीबीआई के प्रवक्ता नितिन वाकणकर के मुताबिक आईपीएस आर के शुक्ला ने सोमवार सुबह सीबीआई निदेशक का पद संभाल लिया। उनके मुताबिक शुक्ला के पूर्ण निदेशक के रूप में कार्यभार संभालने से एजेंसी के कामकाज में स्थिरता आने की संभावना है। वहीं सीबीआई के अंतरिम प्रमुख एम. नागेश्वर राव की स्थिति कुछ अजीबो-गरीब हो गई है। अब वो ममता सरकार की कार्रवाई का तुरन्त जवाब नहीं दे सकते। पश्चिम बंगाल में ना सिर्फ सीबीआई टीम को हिरासत में लिया गया बल्कि साल्ट लेक के सीजीओ परिसर स्थित एजेंसी के कार्यालय की भी घेराबंदी कर ली गई।

वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश के एक मंत्री ने आरके शुक्ला को अपशब्द कहे हैं। यहां की सरकार में सामान्य प्रशासन एवं सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में शुक्ला के डीजीपी रहते हुए जाति के आधार पर दलित आंदोलनकारियों की हत्या हुई थी। इसको लेकर उन्होने कहा कि “शुक्ला अयोग्य, असफल अफसर हैं। आगे उन्होने कहा कि मैं समझता था कि वह ग्वालियर-चंबल संभाग के शेर होंगे, लेकिन मैंने पाया कि भेड़िया शेर की खाल में बैठा है।”

नई दिल्ली। सीबीआई के नवनिर्वाचित निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने सोमवार अपना पदभार ग्रहण कर लिया। 1983 बैच के इस आईपीएस अधिकारी ने उस वक्त कुर्सी संभाली, जब कोलकाता पुलिस और सीबीआई व केन्द्र तथा पश्चिम बंगाल सरकारें एक-दूसरे के सामने खड़ी हैं। सीबीआई के प्रवक्ता नितिन वाकणकर के मुताबिक आईपीएस आर के शुक्ला ने सोमवार सुबह सीबीआई निदेशक का पद संभाल लिया। उनके मुताबिक शुक्ला के पूर्ण निदेशक के रूप में कार्यभार संभालने से एजेंसी के कामकाज में स्थिरता आने की संभावना है। वहीं सीबीआई के अंतरिम प्रमुख एम. नागेश्वर राव की स्थिति कुछ अजीबो-गरीब हो गई है। अब वो ममता सरकार की कार्रवाई का तुरन्त जवाब नहीं दे सकते। पश्चिम बंगाल में ना सिर्फ सीबीआई टीम को हिरासत में लिया गया बल्कि साल्ट लेक के सीजीओ परिसर स्थित एजेंसी के कार्यालय की भी घेराबंदी कर ली गई। वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश के एक मंत्री ने आरके शुक्ला को अपशब्द कहे हैं। यहां की सरकार में सामान्य प्रशासन एवं सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में शुक्ला के डीजीपी रहते हुए जाति के आधार पर दलित आंदोलनकारियों की हत्या हुई थी। इसको लेकर उन्होने कहा कि "शुक्ला अयोग्य, असफल अफसर हैं। आगे उन्होने कहा कि मैं समझता था कि वह ग्वालियर-चंबल संभाग के शेर होंगे, लेकिन मैंने पाया कि भेड़िया शेर की खाल में बैठा है।"