एमपी: पूर्व CM शिवराज सिंह बोले- बागी विधायक दिग्विजय को देखना भी नही पसंद करते

mp
एमपी: पूर्व CM शिवराज सिंह बोले- बागी विधायक दिग्विजय को देखना भी नही पसंद करते

भोपाल। मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमाशान को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री व बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान ने काग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस के बागी विधायक दिग्विजय सिंह से मिलना तो दूर उन्हे देखना भी नही पसंद करते।

Mp Former Cm Shivraj Singh Said Rebel Mla Does Not Like To See Digvijay :

बता दें कि कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हाल ही में कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गये थे। जिसके बाद कमलनाथ सरकार के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया था। लेकिन कांग्रेस की तरफ से सिर्फ 6 विधायकों के ही इस्तीफे मंजूर किये गये। अब कांग्रेस बाकी बचे 16 विधायकों से मिलना चाह रही है लेकिन वो सभी विधायक बैंगलुरू में टिके हैं। कल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजिय सिंह उनसे मिलने बैंगलुरू पंहुचे थे लेकिन उन्हे मिलने नही दिया गया।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेशाध्यक्ष वी. डी. शर्मा ने कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। दोनों नेताओं ने कहा कि बेंगलुरू में डेरा डाले कांग्रेस के विधायक तो दिग्विजय सिंह को देखना तक पसंद नहीं करते। दोनों नेताओं ने सीहोर में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, जिन्होंने मध्यप्रदेश का बंटाधार किया था, आज अपनी हुडदंग गैंग लेकर बेंगलुरू पहुंच गए हैं।

बीेजेपी नेताओं ने कहा कि भाजपा ने पहले ही कहा था कि इस सरकार को गिराएंगे नहीं। भाजपा को 109 और कांग्रेस को 114 सीटें मिली। हम चाहते तो उसी दिन सरकार बनाने के प्रयास कर सकते थे। हमने तय किया कि वोट भले ही हमारे ज्यादा है, मगर सीटें जिसकी ज्यादा है वह सरकार बनाए। कांग्रेस सरकार अपने अंतर्विरोधों के कारण गिर जाए तो कुछ नहीं किया जा सकता है। बीजेपी नेताओं का आरोप है कि कांग्रेस ने परिवार के सदस्यों को मंत्रिमंडल में ले लिया। बेटा-भतीजा सब शामिल हो गए। वरिष्ठों की किसी ने नहीं सुनी और आरोप हम पर लगाते हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमाशान को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री व बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान ने काग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस के बागी विधायक दिग्विजय सिंह से मिलना तो दूर उन्हे देखना भी नही पसंद करते। बता दें कि कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हाल ही में कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गये थे। जिसके बाद कमलनाथ सरकार के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया था। लेकिन कांग्रेस की तरफ से सिर्फ 6 विधायकों के ही इस्तीफे मंजूर किये गये। अब कांग्रेस बाकी बचे 16 विधायकों से मिलना चाह रही है लेकिन वो सभी विधायक बैंगलुरू में टिके हैं। कल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजिय सिंह उनसे मिलने बैंगलुरू पंहुचे थे लेकिन उन्हे मिलने नही दिया गया। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेशाध्यक्ष वी. डी. शर्मा ने कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर तंज कसा है। दोनों नेताओं ने कहा कि बेंगलुरू में डेरा डाले कांग्रेस के विधायक तो दिग्विजय सिंह को देखना तक पसंद नहीं करते। दोनों नेताओं ने सीहोर में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, "पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, जिन्होंने मध्यप्रदेश का बंटाधार किया था, आज अपनी हुडदंग गैंग लेकर बेंगलुरू पहुंच गए हैं। बीेजेपी नेताओं ने कहा कि भाजपा ने पहले ही कहा था कि इस सरकार को गिराएंगे नहीं। भाजपा को 109 और कांग्रेस को 114 सीटें मिली। हम चाहते तो उसी दिन सरकार बनाने के प्रयास कर सकते थे। हमने तय किया कि वोट भले ही हमारे ज्यादा है, मगर सीटें जिसकी ज्यादा है वह सरकार बनाए। कांग्रेस सरकार अपने अंतर्विरोधों के कारण गिर जाए तो कुछ नहीं किया जा सकता है। बीजेपी नेताओं का आरोप है कि कांग्रेस ने परिवार के सदस्यों को मंत्रिमंडल में ले लिया। बेटा-भतीजा सब शामिल हो गए। वरिष्ठों की किसी ने नहीं सुनी और आरोप हम पर लगाते हैं।