सौर ऊर्जा से रोशन होंगे कुशीनगर के नौ गांव

कुशीनगर: कुशीनगर के दो गांवों में महिंद्रा एमपार्वड गांव पहल का सफलतापूर्वक क्रि यान्वयन करने के बाद मृदा समूह ने यही पहल जिला स्तर पर शुरू की है। इसके तहत एक बार में नौ गांवों को सौर ऊर्जा से रोशन किया जाएगा। इस पहल के तहत विकास के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाता है। महिंद्रा एमपार्वड गांव पहल का क्रियान्वयन मृदा द्वारा किया जा रहा है। कंपनी ने कहा कि बेल्वा या बेल्वानिया तथा झाझवा गांव को रोशन करने के बाद अब वह नौ अन्य गांवों में इस पहल को आगे बढ़ाएगी। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के गांवों में जिलास्तर पर इस पहल को आगे बढ़ाया जाएगा।




जिन नौ गांवों को रोशन किया जाएगा उनमें काशी तोला, चिल्वान तोला, रगरगंज, चकानी भूमियारी पट्टी, लेहनी दो, चकानी पुरन चापरा, चकानी भोज चापरा, मिशरौली तथा इंदरपुर शामिल हैं।मृदा ग्रुप के सह संस्थापक अरुण नागपाल ने कहा कि इन गांवों में सव्रेक्षण के तहत 100 प्रतिशत घरों को शामिल किया गया। इसके तहत मुख्य मुद्दा विद्युतीकरण था।

प्रभाव आकलन अध्ययन से स्पष्ट हुआ है कि इस तरह की पहल से 1983 लीटर केरोसिन की खपत को कम करने में मदद मिलती है, जिससे सीओ2 का उत्सर्जन 4.96 टन कम किया जा सकता है। इससे करीब 2,500 लोगों को फायदा होगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा इस पहल के तहत आजीविका और कौशल परीक्षण, सामाजिक मुद्दे मसलन महिला सशक्तीकरण आदि पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।