पूर्व कप्तान एमएस धोनी कश्मीर में करेंगे पेट्रोलिंग, संभालेंगे सेना की सुरक्षा पोस्ट

dhoni
पूर्व कप्तान एमएस धोनी कश्मीर में करेंगे पेट्रोलिंग, संभालेंगे सेना की सुरक्षा पोस्ट

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी एक बार फिर सेना की वर्दी में कश्मीर में पेट्रोलिंग करते नजर आयेंगे। 31 जुलाई से धोनी 106 टेरिटोरियल आर्मी बटालियन (पैरा) के साथ कश्मीर में जुड़ेंगे। भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल से सम्मानित एमएस धोनी के बारे में बताया गया है कि वह पैरा रेजिमेंट का हिस्सा रहेंगे।

Ms Dhoni To Do Patrolling Guard Duties For Indian Army On Border In Kashmir :

15 दिन वह सेना के साथ रहते हुए पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट की ड्यूटी संभालेंगे। इस दौरान वह पूरे समय जवानों के साथ रहेंगे। वो इस समय कश्मीर में विक्टर फोर्स का हिस्सा रहेंगे। गौरतलब है कि, धोनी पहले भी जम्मू-कश्मीर जा चुके हैं। साल 2017 में धोनी जम्मू कश्मीर के बारामूला गए थे, जहां उन्होंने आर्मी की ओर से आयोजित क्रिकेट मैच में हिस्सा लिया था।

धोनी इस मैच को आर्मी की यूनिफॉर्म पहनकर ही देखने पहुंचे थे। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान धोनी को 2011 में इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में ​लेफ्टिनेंट कर्नल की रैंक दी गई थी। धोनी का सेना प्रेम किसी से छिपा नहीं है। विश्व कप के दौरान भी दस्ताने पर ‘बलिदान बैज’ लगाकर खेलने के चलते वे विवादों में फंसे थे।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी एक बार फिर सेना की वर्दी में कश्मीर में पेट्रोलिंग करते नजर आयेंगे। 31 जुलाई से धोनी 106 टेरिटोरियल आर्मी बटालियन (पैरा) के साथ कश्मीर में जुड़ेंगे। भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल से सम्मानित एमएस धोनी के बारे में बताया गया है कि वह पैरा रेजिमेंट का हिस्सा रहेंगे। 15 दिन वह सेना के साथ रहते हुए पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट की ड्यूटी संभालेंगे। इस दौरान वह पूरे समय जवानों के साथ रहेंगे। वो इस समय कश्मीर में विक्टर फोर्स का हिस्सा रहेंगे। गौरतलब है कि, धोनी पहले भी जम्मू-कश्मीर जा चुके हैं। साल 2017 में धोनी जम्मू कश्मीर के बारामूला गए थे, जहां उन्होंने आर्मी की ओर से आयोजित क्रिकेट मैच में हिस्सा लिया था। धोनी इस मैच को आर्मी की यूनिफॉर्म पहनकर ही देखने पहुंचे थे। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान धोनी को 2011 में इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में ​लेफ्टिनेंट कर्नल की रैंक दी गई थी। धोनी का सेना प्रेम किसी से छिपा नहीं है। विश्व कप के दौरान भी दस्ताने पर 'बलिदान बैज' लगाकर खेलने के चलते वे विवादों में फंसे थे।