नेता जी कल बताएंगे सपा में उनकी हैसियत क्या है, जो विरोध कर सकें वो सामने खड़े हों

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच शुरू हुई लड़ाई में रविवार को सामने आए घटनाक्रम के बाद सोमवार को पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। इस बैठक के बाद मुलायम सिंह यादव पार्टी के उन नेताओं को स्पष्ट संदेश देगे जो पार्टी के भीतर गुटबाजी की वजह बन रहे हैं और शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच आई वैचारिक मतभेद को इस स्तर तक ले आए हैं।




मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार को नेता जी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को एक संदेश देने वाले हैं। जिसमें सभी को हिदायत दी जाएगी कि जो खुद को अ​खिलेश और शिवपाल का ​करीबी बताकर दुनियाभर में पारिवारिवारिक विवाद की खबरों को हवा दे रहे हैं वे सुधर जाएं। ऐसे लोगों को पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। पार्टी के भीतर किसी व्यक्ति विशेष के नाम पर किसी भी प्रकार की गुटबाजी नहीं होगी। उनके लिए ​अखिलेश और शिवपाल दोनों बेटे ही हैं।




सूत्रों की माने तो रविवार को मुलामय सिंह यादव ने अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच के मतभेद को दूर करने का एक और प्रयास किया है। बताया जा रहा है कि परिवार के भीतर जारी जंग ने नेता जी बेहद आहत हैं। भाई और बेटे के रिश्तों में आई खटास ने उन्हें भावुक भी कर दिया था।