मुलायम सिंह यादव करवा सकते हैं मेरी हत्या: सीमा सिंह

लखनऊ। यूपी के सबसे ताकतवर सियासी परिवार के मुखिया मुलायम सिंह यादव पर सीमा सिंह ने आरोप लगाया है कि वह उनकी हत्या करवा सकते हैं। इसके साथ ही सीमा सिंह का कहना है कि यूपी की सपा सरकार गुंडे पालती है। अब आपको आगे बताते हैं कि मुलायम और सपा सरकार पर आरोप लगाने वाली सीमा सिंह हैं कौन और उन्होंने ऐसे आरोप क्यों लगाए?




दरअसल सोमवार को समाजवादी पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अपने 17 प्रत्याशियों की सूची जारी की थी। जबकि 9 सीटों के लिए पूर्व में घोषित प्रत्याशियों को बदला गया था। प्रत्याशियों की इसी सूची में एक नाम है बाहुबली अमन मणि त्रिपाठी का, जो अपनी पत्नी सारा सिंह की हत्या के आरोपों में ​सीबीआई जांच का सामना कर रहे हैं और हाल ही में इलाहाबाद की नैनी जेल से रिहा हुए हैं। अमन मणि को समाजवादी पार्टी से नौतनवा विधानसभा सीट से टिकट मिलने की खबर के बाद अपनी बेटी सारा की हत्या के मामले में इंसाफ की बाट जोह रही सीमा सिंह का भरोसा जवाब दे गया।

पर्दाफाश से बातचीत करते हुए सीमा सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अपराधियों को अपनी पार्टी का प्रत्याशी बना रहे हैं। यूपी में उनकी ही सरकार है ऐसे में वह कैसे उम्मीद कर सकतीं हैं कि उनकी बेटी के हत्यारे को सजा मिलेगी। उन्हें डर है कि मुलायम सिंह उनकी हत्या करवा देंगे।

सीमा सिंह ने अपनी असुरक्षा की भावना को व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने नेता जी से मिलकर अमन मणि के खिलाफ कठोर कार्रवाई करवाने की मांग की थी। सारा की हत्या के मामले में उन्होंने नेता जी से मिलकर सीबीआई जांच के लिए सिफारिश करने की मांग की थी। उस मुलाकात के बाद भी यूपी सरकार सीबीआई जांच को लेकर टालमटोल करती रही। मीडिया में जब मामला गरमाया तो यूपी सरकार ने दवाब में आकर सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।




उन्होने मीडिया के माध्यम से यूपी सरकार और केन्द्र सरकार से सुरक्षा मुहैया करवाने की मांग की है और नौतनवा विधानसभा क्षेत्र के लोगों से अपील की है कि वे अमन मणि जैसे अपराधी को चुनाव में वोट न करें।

इसके साथ ही सीमा सिंह ने अमन मणि के पिता अमर मणि त्रिपाठी को जेल में मिल रहीं सुविधाओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि वर्तमान सरकार की मेहरबानियों की वजह से ही हत्या के मामले में दोषी अमर मणि को जेल में राजाओं जैसी सुविधाएं ​मिलीं हुईं हैं। गौरतलब है कि अमर मणि त्रिपाठी जिस समय मधुमिता हत्याकांड में गिरफ्तार किए गए थे, वे मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री हुआ करते थे।




उधर अमन मणि को टिकट मिलने के बाद मुलायम सिंह यादव और सीएम अखिलेश यादव के बीच भी कुछ नाराजगी की खबरें आ रहीं हैं। बताया जा रहा है कि सीएम अखिलेश यादव नहीं चाहते थे कि आगामी चुनाव में अपराधिक छवि वाले चेहरों को पार्टी अपना प्रत्याशी घोषित करें। वहीं जानकारों की माने तो नेता जी अमर मणि से अपने रिश्तों को लेकर बेहद संजीदा हैं। इसे उनके व्यक्तित्व का हिस्सा भी कहा जा सकता है कि वे जिसके साथ रिश्ते बनाते हैं उसका साथ किसी भी परिस्थिति में नहीं छोड़ते।

Loading...