किस राजनीतिक मजबूरी से मोदी के मुरीद हुए मुलायम!

modi-mulayam
पीएम मोदी पर 'मुलायम' हुए सपा संरक्षक, बेटे अखिलेश की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के आज लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में बयान देने के बाद सियासत तेज हो गयी है। एक तरफ जहां उनके बेटे और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) को लोकसभा चुनाव में कड़ी शिकस्त देने के लिए महागठबंधन बनाकर लगातार केंद्र और यूपी की भाजपा सरकार पर हमलावर हैं। वहीं दूसरी तरफ उनके पिता मुलायम सिंह यादव द्वारा नरेंद्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने की बात कहने के कई सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं।

Mulayam Singh Yadav Statement To See Narendra Modi Pm Again :

भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने मुलायम के इस बयान का स्वागत करते हुए विपक्षियों को उनसे सीखने की बात कहनी शुरू कर दी है। उधर, सपा के नेताओं ने इसे लोकसभा चुनाव से पहले शिष्टाचार का नाम दिया है। सपा प्रवक्ता और एमएलसी सुनील सिंह साजन ने मुलायम के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नेता जी का बयान लोकसभा के आखिरी दिन होने वाली भारतीय संसद की परंपरा का हिस्सा था। इसे किसी भी तरह पॉलिटिकल एंगल से नहीं देखना चाहिए।

अखिलेश को हो सकता है नुकसान

मुलायम सिंह का यह बयान उस समय आया है, जब भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए क्षेत्रीय पार्टियां महागठबंधन बनाकर मैदान में उतर चुकी हैं। इसमें बड़ी भागीदार मुलायम के पुत्र अखिलेश यादव की रही। उन्होने बसपा सुप्रीमों मायावती से हाथ मिलाकर भाजपा को कड़ी टक्कर देने की बात कही, सीटों के बंटवारे तक हो गए। मायावती ने अखिलेश का खुलकर समर्थन करना शुरू कर दिया है और साथ में एक मंच भी साझा कर चुके हैं। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मुलायम का ये बयान अखिलेश के लिए मुसीबत बन सकता है।

अजीब बयानों के लिए मशहूर हैं मुलायम

आपको बताते चलें कि मुलायम सिंह यादव एक ऐसे नेता हैं जो कभी कभी ऐसे बयान दे देते हैं, जिससे उनकी पार्टी के नेता असमंजस की स्थित में आ जाते हैं। हालांकि पार्टी में मुलायम के कद के आगे कोई उनकी बात काटने की स्थित में नहीं है। इससे पहले मुलायम सिंह यादव बलात्कारियों का तथाकथित रूप से बचाव करने को लेकर चौतरफा आलोचना झेल चुके हैं।

ये है मुलायम का बयान

लोकसभा में विदाई भाषणों के दौरान मुलायम सिंह यादव ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा, ‘उम्मीद करता हूं, सभी माननीय सदस्य जीतकर दोबारा आएं। प्रधानमंत्री जी सबको साथ लेकर चले हैं और आप दोबारा प्रधानमंत्री बनें, यही हमारी कामना है। मुलायम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी ने सबके साथ मिलकर काम किया है और वह उनके फिर से प्रधानमंत्री बनने की कामना करते हैं। इस दौरान सदन में मौजूद यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी मुस्कुराती नजर आईं।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के आज लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में बयान देने के बाद सियासत तेज हो गयी है। एक तरफ जहां उनके बेटे और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) को लोकसभा चुनाव में कड़ी शिकस्त देने के लिए महागठबंधन बनाकर लगातार केंद्र और यूपी की भाजपा सरकार पर हमलावर हैं। वहीं दूसरी तरफ उनके पिता मुलायम सिंह यादव द्वारा नरेंद्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने की बात कहने के कई सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं।भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने मुलायम के इस बयान का स्वागत करते हुए विपक्षियों को उनसे सीखने की बात कहनी शुरू कर दी है। उधर, सपा के नेताओं ने इसे लोकसभा चुनाव से पहले शिष्टाचार का नाम दिया है। सपा प्रवक्ता और एमएलसी सुनील सिंह साजन ने मुलायम के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नेता जी का बयान लोकसभा के आखिरी दिन होने वाली भारतीय संसद की परंपरा का हिस्सा था। इसे किसी भी तरह पॉलिटिकल एंगल से नहीं देखना चाहिए।

अखिलेश को हो सकता है नुकसान

मुलायम सिंह का यह बयान उस समय आया है, जब भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए क्षेत्रीय पार्टियां महागठबंधन बनाकर मैदान में उतर चुकी हैं। इसमें बड़ी भागीदार मुलायम के पुत्र अखिलेश यादव की रही। उन्होने बसपा सुप्रीमों मायावती से हाथ मिलाकर भाजपा को कड़ी टक्कर देने की बात कही, सीटों के बंटवारे तक हो गए। मायावती ने अखिलेश का खुलकर समर्थन करना शुरू कर दिया है और साथ में एक मंच भी साझा कर चुके हैं। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मुलायम का ये बयान अखिलेश के लिए मुसीबत बन सकता है।

अजीब बयानों के लिए मशहूर हैं मुलायम

आपको बताते चलें कि मुलायम सिंह यादव एक ऐसे नेता हैं जो कभी कभी ऐसे बयान दे देते हैं, जिससे उनकी पार्टी के नेता असमंजस की स्थित में आ जाते हैं। हालांकि पार्टी में मुलायम के कद के आगे कोई उनकी बात काटने की स्थित में नहीं है। इससे पहले मुलायम सिंह यादव बलात्कारियों का तथाकथित रूप से बचाव करने को लेकर चौतरफा आलोचना झेल चुके हैं।

ये है मुलायम का बयान

लोकसभा में विदाई भाषणों के दौरान मुलायम सिंह यादव ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा, 'उम्मीद करता हूं, सभी माननीय सदस्य जीतकर दोबारा आएं। प्रधानमंत्री जी सबको साथ लेकर चले हैं और आप दोबारा प्रधानमंत्री बनें, यही हमारी कामना है। मुलायम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी ने सबके साथ मिलकर काम किया है और वह उनके फिर से प्रधानमंत्री बनने की कामना करते हैं। इस दौरान सदन में मौजूद यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी मुस्कुराती नजर आईं।