1. हिन्दी समाचार
  2. बारिश बनी आफत, दीवार गिरने से मलाड में 13 और पुणे में सात की मौत

बारिश बनी आफत, दीवार गिरने से मलाड में 13 और पुणे में सात की मौत

Mumbai 13 Dead And 13 Injured After A Wall Collapsed In Malad Due To Heavy Rainfall

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

मुम्बई। महाराष्ट्र में लगातार हो रही बारिश अब वहां के लोगों के लिए आफत बन गई है। मुंबई के मलाड़ में दीवार गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई है। वहीं पुणे में दीवार गिरने से सात लोगों की मौत हो गई है। इन दोनों हादसों में कई लोगों के दबे होने की आशंका है। बचाव और राहत कार्य के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल एनडीआरएफ के कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं।

पढ़ें :- बीजेपी ने जारी की लालू राज की डिक्शनरी....क से क्राइम, ख से खतरा, ग से गोली...

बृहत मुंबई महानगर पालिका बीएमसी ने मलाड़ की घटना में 13 लोगों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कुरार गांव में एक ढलान सरीखे पहाड़ पर बने कुछ अस्थायी झोपडिय़ों पर दीवार गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई है। अग्निशमन और राष्ट्रीय आपदा राहत बल के कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं और राहत कार्य में जुट गए हैं।

वहीं सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति संवेदना जताई है। मुख्यमंत्री ने 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। महाराष्ट्र सरकार ने 2 जुलाई को मुंबई , नवी मुंबई, थाणे और कोंकण इलाके के सभी सरकारी और निजी स्कूलों के लिए अवकाश घोषित किया है।

भारी बारिश के बाद सोमवार आधी रात 12.30 बजे कल्याण में राष्ट्रीय उर्दू विद्यालय की दीवार गिरने से 3 लोगों की मौत हो गईए जबकि एक घायल हो गया। मौसम विभाग की और से भारी बारिश की चेतावनी के बाद महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी गई है। इमरजेंसी हालात में ही घर से निकलने को कहा गया है।

मुंबई में बारिश की वजह से करीब 54 विमानों को नजदीकी हवाई अड्डों की तरफ मोड़ा गया है। निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने बताया कि मुंबई में तीन जुलाई से पांच जुलाई के बीच बाढ़ का गंभीर खतरा है। इस दौरान 200 मिमी या इससे ज्यादा बारिश हर दिन होगी जो कि आम जनजीवन में बाधा पहुंचाएगी।

पढ़ें :- संजय सिंह ने बोला यूपी सरकार पर हमला, कहा-सत्ता में आए तो दिल्ली मॉडल उत्तर प्रदेश में लागू होगा

निकाय अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को रात 10 बजकर 54 मिनट पर 3.84 मीटर तक ऊंची लहरें उठेंगी। उन्होंने लोगों से इस दौरान समुद्र के निकट नहीं जाने की चेतावनी दी है। यह ऊंची लहरें पृथ्वी और चांद के बीच गुरूत्वाकर्षण के खिंचाव की वजह से है। वेस्टर्न घाट सेक्शन के करजात और लोनावाला के बीच सोमवार को तड़के एक मालवाहक ट्रेन पटरी से उतर गई जिससे पुणे और पश्चिमी महाराष्ट्र की ओर जाने वाली लंबी दूरी की कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...