कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, मुंबई अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा

a.jpeg

मुम्बई। मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का नेतृत्व करने के लिए तीन सदस्यीय पैनल का भी प्रस्ताव दिया है। बता दें कि महाराष्ट्र में इस साल अक्टूबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में देवड़ा का इस्तीफा कांग्रेस के लिए खासा बड़ा झटका माना जा रहा है।

Mumbai Congress President Milind Deora Tenders His Resignation From His Post :

इससे पहले मिलिंद एक राष्ट्र एक चुनाव के मुद्दे पर सरकार के साथ खड़े दिखे थे। जबकि कांग्रेस ने इससे दूरी बनाए रखी थी। दरअसल इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक की थी। मिलिंद ने प्रधानमंत्री मोदी के इस विजन की सराहना की थी।

एक तरह से मिलिंद ने अपनी पार्टी के विरोध के बावजूद इस मुद्दे पर समर्थन किया हालांकि उन्होंने इसे अपना निजी बयान बताया था। मिलिंद ने कहा था कि भारत की 70 साल की चुनावी यात्रा ने हमें सिखाया है कि भारतीय मतदाता राज्य और केंद्रीय चुनावों में अंतर कर सकता है। हमारे लोकतंत्र की यही खूबसूरती है कि हम इस तरह का विचार कर सकते हैं। इन्हीं शब्दों के साथ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की दूरदृष्टि का सम्मान करते हुए एक राष्ट्र, एक चुनाव का समर्थन किया था।

मुम्बई। मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का नेतृत्व करने के लिए तीन सदस्यीय पैनल का भी प्रस्ताव दिया है। बता दें कि महाराष्ट्र में इस साल अक्टूबर में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में देवड़ा का इस्तीफा कांग्रेस के लिए खासा बड़ा झटका माना जा रहा है। इससे पहले मिलिंद एक राष्ट्र एक चुनाव के मुद्दे पर सरकार के साथ खड़े दिखे थे। जबकि कांग्रेस ने इससे दूरी बनाए रखी थी। दरअसल इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक की थी। मिलिंद ने प्रधानमंत्री मोदी के इस विजन की सराहना की थी। एक तरह से मिलिंद ने अपनी पार्टी के विरोध के बावजूद इस मुद्दे पर समर्थन किया हालांकि उन्होंने इसे अपना निजी बयान बताया था। मिलिंद ने कहा था कि भारत की 70 साल की चुनावी यात्रा ने हमें सिखाया है कि भारतीय मतदाता राज्य और केंद्रीय चुनावों में अंतर कर सकता है। हमारे लोकतंत्र की यही खूबसूरती है कि हम इस तरह का विचार कर सकते हैं। इन्हीं शब्दों के साथ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की दूरदृष्टि का सम्मान करते हुए एक राष्ट्र, एक चुनाव का समर्थन किया था।