मुंबई अग्निकांड: वन एबव के दोनों प्रबंधकों को 9 जनवरी तक पुलिस हिरासत

Kamala Mills

मुंबई। कमला मिल्स कंपाउंड अग्निकांड मामले में गिरफ्तार पब के दो मैनेजरों को मुंबई की एक अदालत ने सोमवार को 9 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। पिछले हफ्ते 29 दिसंबर को हुए इस हादसे में 14 लोगों की जान चली गई थी और 55 लोग काफी बुरी तरह आग में झुलस गए थे। अग्निकांड मामले में वन एबव के प्रबंधक केविन बावा और लिस्बन लोपेज को रविवार रात पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया और सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया ।

मामले की जांच अधिकारियों के मुताबिक, आग लगने पर घबराए हुए ग्राहकों को सुरक्षित आपातकालीन रास्तों से निकालने के बजाए बावा और लोपेज कथित तौर पर अपनी जान बचाने के लिए मौके से भाग गए थे। अगर दोनों प्रबंधक अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए ग्राहको को बचाने का प्रयास करते तो हताहतों की संख्या कम हो सकती थी। फिलहाल दोनों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304, धारा 337, धारा 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- मुंबई अग्निकांड : One Above Pub के तीनों मालिक गिरफ्तार  }

इससे पहले रविवार को पुलिस ने वन-एबव पब के फरार मालिक व साझेदार, कृपेश संघवी और जिगर संघवी के रिश्तेदार राकेश संघवी (46) और राकेश के बेटे आदित्य (26) को उनको आश्रय देने व गिरफ्तारी में बाधा पहुंचाने को लेकर दबोच लिया। जिन्हें मजिस्ट्रेट के सामने 25,000 रुपये का प्रत्येक से मुआवजा भरवाने के बाद जमानत पर छोड़ दिया गया।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (मध्य) एस. जयकुमार के मुताबिक, राकेश संघवी और उनके पुत्र आदित्य उसी भवन के 16वें मंजिल पर रहते हैं, जिसमें कृपेश का भी एक फ्लैट है। आग हादसे के बाद आरोपियों को पनाह देने के आरोप में दोनों को गिरफ्तार किया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- मुंबई: इमारत में लगी भीषण आग, 4 की मौत 7 घायल }

मुंबई। कमला मिल्स कंपाउंड अग्निकांड मामले में गिरफ्तार पब के दो मैनेजरों को मुंबई की एक अदालत ने सोमवार को 9 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। पिछले हफ्ते 29 दिसंबर को हुए इस हादसे में 14 लोगों की जान चली गई थी और 55 लोग काफी बुरी तरह आग में झुलस गए थे। अग्निकांड मामले में वन एबव के प्रबंधक केविन बावा और लिस्बन लोपेज को रविवार रात पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में ले…
Loading...