1. हिन्दी समाचार
  2. मुंबई इंडियंस को याद आया सचिन तेंदुलकर का पहला वनडे शतक, शेयर किया VIDEO

मुंबई इंडियंस को याद आया सचिन तेंदुलकर का पहला वनडे शतक, शेयर किया VIDEO

Mumbai Indians Remember Sachin Tendulkars First Odi Century Shared Video

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने कई रिकॉर्ड बनाए हैं। उनके रिकॉर्डस को तोड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान नहीं है। इसी क्रम में 9 सितंबर भी आता है। दरअसल 9 सितंबर 1994 को सचिन तेंदुलकर ने वनडे करियर का पहला शतक जड़ा था। सचिन के इसी शतक के वीडियो को आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। वीडियो साझा करते फ्रेंचाइजी ने पूछा, “जब सचिन तेंदुलकर ने साल 1994 में अपना पहला एकदिवसीय शतक लगाया था, उस वक्त आपकी उम्र कितनी थी?”

पढ़ें :- सरकारी भर्ती: 12वीं पास के लिए निकली नौकरी, फटाफट करें अप्लाई

दरअसल, भारत सितंबर 1994 में श्रीलंका दौरे पर गया था, जहां सिंगर वर्ल्ड सीरीज खेली जा रही थी। इस सीरीज का तीसरा वनडे भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। उस समय ऑस्ट्रेलियाई टीम में शेन वॉर्न और ग्लेन मैक्ग्रा जैसे खतरनाक गेंदबाज थे। वहीं दूसरी ओर टीम इंडिया में महज 21 साल के युवा खिलाड़ी सचिन।

पढ़ें :- अब बलरामपुर में हाथरस जैसी हैवानियत, दलित छात्रा से गैंगरेप, कमर और पैर तोड़े, पीड़िता की मौत

इस मैच में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। इस मैच में ओपनिंग के लिए मनोज प्रभाकर और सचिन तेंदुलकर आए। इंडिया अच्छी शुरुआत के साथ आगे बढ़ रहा था, लेकिन तभी 20 रन के स्कोर पर खेल रहे प्रभाकर को शेन वॉर्न ने आउट कर दिया। इस समय भारत का स्कोर 87 रन था। फिर सचिन का साथ देने नवजोत सिंह सिद्धू क्रीज पर आए, लेकिन सिद्धू सिर्फ 24 रन बना कर पवेलियन लौट गए। भारत का स्कोर 129 पर 2 विकेट। अब क्रीज पर मौजूद थे सचिन और मोहम्मद अजहरुद्दीन थे।

इस समय सचिन 98 के निजी स्कोर पर खेल रहे थे और गेंदबाजी के लिए शेन वॉर्न गेंद लेकर तैयार थे। इस ओवर एक गेंद को सचिन ने पॉइंट और शॉर्ट एरिया के बीच से खेल दिया। यह गेंद मिस फील्ड और सचिन ने पारी की 119वीं गेंद पर अपने वनडे करियर का पहला शतक लगा दिया।

यह दिन इतिहास में दर्ज है। आज से ठीक 23 साल पहले सचिन ने अपना पहला वनडे शतक लगाया था। उन्होंने इस मैच में 130 बॉल पर 8 चौके और 2 छक्कों की मदद से 110 रन की यादगार पारी खेली। यह मैच भारत ने 31 रनों से जीत और सचिन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसके बाद सचिन कभी रुके नहीं। उन्होंने संन्यास लेने से पहले आखिरी अंर्तराष्ट्रीय शतक 16 मार्च 2012 में बांग्लादेस के खिलाफ जड़ा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...