मोदी की हत्या की साजिश मे देशभर में छापेमारी, 5 गिरफ्तार

मोदी की हत्या की साजिश मे देशभर में छापेमारी, 5 गिरफ्तार
मोदी की हत्या की साजिश मे देशभर में छापेमारी, 5 गिरफ्तार

Mumbai Pune Hyderabad Activist Raid Police Bhima Koregaon

नई दिल्ली। भीमा-कोरेगांव और नक्सलियों से कथित संबंध रखने के आरोप में मंगलवार को पुणे पुलिस की देशभर में ‘नक्सली शुभचिंतकों’ के घर मारे गए ताबड़तोड़ छापों और गिरफ्तारी पर पुणे पुलिस ने साफ किया है कि ये छापे पुख्ता सबूतों के बाद मारे गए हैं। ये छापेमारी महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना, दिल्ली और झारखंड में की गई। पुणे पुलिस ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर छापेमारी की।

पुणे के संयुक्त पुलिस आयुक्त शिवाजी बोकडे ने दावा किया, ‘हमने ये छापे पुख्ता सबूतों के आधार पर मारे हैं। 6 जून को पांच कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी और उनके पास से बरामद किए गए कागजात के आधार पर इन ‘नक्सली शुभचिंतकों’ की गिरफ्तारी हुई है। इन कागजातों में गिरफ्तार लोगों के नाम थे।’ भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में जांच के मद्देनजर छापे के बाद अब तक कवि वरवरा राव, अरुण परेरा, गौतम नवलखा, वेरनोन गोन्जाल्विस और सुधा भारद्वाज को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपियों पर सेक्शंस 153 A, 505(1) B, 117, 120B, 13, 16, 18, 20, 38, 39, 40 और UAPA (गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम ऐक्ट) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

आपको बता दें कि भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में जून में हुई गिरफ्तारी में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए थे। पुलिस का दावा था कि तब गिरफ्तार कई लोगों के पास से ऐसी चिट्ठी मिली थी, जिसमें ये लिखा था कि नक्सली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे थे। नक्सली पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह ही पीएम मोदी की हत्या करना चाहते थे।

क्या था चिट्ठी में

दरअसल, इस साल जून में माओवादियों की एक चिट्ठी सामने आई थी, जिसमें राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने का खुलासा हुआ था। 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया कि हिंदू फासिस्म को हराना अब काफी जरूरी हो गया है। मोदी की अगुवाई में हिंदू फासिस्ट काफी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसे में इन्हें रोकना जरूरी हो गया है।

इसमें लिखा गया था कि मोदी की अगुवाई में बीजेपी बिहार और बंगाल को छोड़ करीब 15 से ज्यादा राज्यों में सत्ता में आ चुकी है। अगर इसी तरह ये रफ्तार आगे बढ़ती रही, तो माओवादी पार्टी को खतरा हो सकता है। इसलिए वह सोच रहे हैं कि एक और राजीव गांधी हत्याकांड की तरह घटना की जाए।

इस चिट्ठी में कहा गया कि अगर ऐसा होता है, तो ये एक तरह से सुसाइड अटैक लगेगा। हमें लगता है कि हमारे पास ये चांस है। मोदी के रोड शो को टारगेट करना एक अच्छी प्लानिंग हो सकती है।

नई दिल्ली। भीमा-कोरेगांव और नक्सलियों से कथित संबंध रखने के आरोप में मंगलवार को पुणे पुलिस की देशभर में 'नक्सली शुभचिंतकों' के घर मारे गए ताबड़तोड़ छापों और गिरफ्तारी पर पुणे पुलिस ने साफ किया है कि ये छापे पुख्ता सबूतों के बाद मारे गए हैं। ये छापेमारी महाराष्ट्र, गोवा, तेलंगाना, दिल्ली और झारखंड में की गई। पुणे पुलिस ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर छापेमारी की। पुणे के संयुक्त पुलिस आयुक्त शिवाजी बोकडे ने दावा किया, 'हमने ये छापे…