1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. 1974 के बाद मुंबई में सबसे अधिक बारिश, बंद रहेंगे स्कूल और कॉलेज

1974 के बाद मुंबई में सबसे अधिक बारिश, बंद रहेंगे स्कूल और कॉलेज

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

मुंबई। भारी बारिश के कारण मुंबई ठाणे के बीच विभिन्न स्थानों पर रेलवे ट्रैक के पानी में डूब जाने के बाद मंगलवार को मध्य रेलवे ने कई जगहों पर उपनगरीय ट्रेन सेवाएं रोक दीं। इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई में एहतियातन सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया। रिकार्डतोड़ बारिश के कारण पश्चिम रेलवे पर भी सेवाएं प्रभावित हुई हैं।

अधिकारियों ने यह जानकारी दी कि सोमवार को लगभग 375 मिलीमीटर की औसत बारिश हुई जो 1974 के बाद से 24 घंटों में हुई सर्वाधिक बारिश है। ठाणे कुर्ला के बीच पहले रोक दी गईं, सीआर की ट्रेन सेवाएं रेलवे ट्रैक पर कई स्थानों पर पानी में डूबने के कारण छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल से ठाणे के बीच भी रोकनी पड़ीं। पश्चिम रेलवे नेटवर्क पर कई ट्रेन सेवाओं में देरी की सूचना मिली है।

देश के विभिन्न हिस्सों से मुंबई आने वाली कई लंबी दूरी की ट्रेनें भी रास्तों में विभिन्न जगहों पर फंसी खड़ी हैं। मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आने और जाने वाली उड़ानों में देरी हो रही है। 55 उड़ानों के रूट को डायवर्ट किया गया है। साथ ही आधी रात से थोड़ी देर पहले 167 यात्रियों के साथ स्पाइसजेट के एक विमान के रनवे से आगे निकलने के कारण भी उड़ानों का संचालन प्रभावित हुआ।

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड के एक प्रवक्ता ने कहा कि, मंगलवार दोपहर तक यहां आने वाली 26 अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों समेत कम से कम 55 उड़ानों का मार्ग बदला गया। इस दौरान चार अंतर्राष्ट्रीय समेत यहां आने वाली 18 उड़ानों और चार अंतर्राष्ट्रीय समेत यहां से जाने वाली 24 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। कई क्षेत्रों में पानी भरा होने के कारण शहर और उपनगरों में लगातार दूसरे दिन जनजीवन प्रभावित रहा।

अंधेरी, जोगेश्वरी, विले पार्ले और दहीसर जलमग्न हो गए हैं। चांदीवली में एक निर्माणाधीन स्थल के पास एक सड़क धंस गई और स्थानीय लोगों ने दावा किया कि उसमें कुछ लोग बह गए। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जनता से अपील की है कि लगातार हो रही बारिश को देखते हुए जब तक अत्यधिक जरूरी नहीं होए घर से बाहर नहीं निकलें। फडणवीस ने मीडियाकर्मियों से कहा, पिछले 12 घंटों में शहर में अभूतपूर्व रूप से 300 से 400 मिलीमीटर बारिश हुई है जो पिछले एक दशक में सर्वाधिक है। इस दोपहर आए ज्वार के साथ-साथ इतनी भारी बारिश से निपटने में मौजूदा जल निकासी तंत्र असमर्थ हैं।

भारतीय नौसेना ने कुर्ला के क्रांति नगर में फंसे लगभग 1000 लोगों को निकालने के लिए रबर की नावें और आईएनएस तानाजी से नौसैनिक गोताखोरों की एक टीम, सशस्त्र जीवन,रक्षकए लाइफ जैकेट्स और खाने के पैकेट भेजीं। इन लोगों को निकाल लिया गया है।

फडणवीस ने बीएमसी आपदा विभाग का दौरा किया और वे मलाड में दीवार ढहने से घायल हुए लोगों से मिलने अस्पताल भी गए। मुंबई में प्रतिदिन आने जाने वाले लाखों लोगों का सहारा ट्रेनें और सड़कें पानी से भरी है। जिसके बाद प्रदेश सरकार ने शहर में मंगलवार को एहतियातन सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...