चूहों ने कुतर डाला मरीज का पैर-आंख, डॉक्टर बोले- 10 रुपये में यही मिलेगा

मुंबई। बीएमसी के एक अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां के कांदिवली स्थित शताब्दी अस्पताल में एक महिला मरीज का पैर चूहों ने कुतर डाला। जब मामले की भनक अस्पताल प्रशासन को लगी, तो हड़कंप मच गया। पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि जब इस मामले की शिकायत अस्पताल प्रबंधन से की गयी, तो जवाब मिला कि 10 रुपये में एक मरीज को इससे ज्यादा सुविधाएं नहीं दे सकते। बताते चलें कि कुछ दिन पहले ऐसे ही एक मामले में चूहों ने महिला की आंख कुतर डाली थी।

मिली जानकारी के अनुसार, मुंबई की रहने वाली 65 साल की शिलाबेन शाह अपने पैर की हड्डियों का इलाज कराने शताब्दी अस्पताल में भर्ती हुई थी। रात में अचानक उनके पैर में दर्द उठा। जब उन्होंने उठकर देखा तो चूहे उनके पैर का मांस कुतर रहे थे। मामले की जानकारी अस्पताल प्रशासन को मिलते ही आनन-फानन में महिला का इलाज शुरू हुआ।

{ यह भी पढ़ें:- मोदी पर गरजे राज ठाकरे, बोले- अगली रैली शांतीपूर्ण नहीं होगी }

बताते चलें कि बीते एक सप्‍ताह पहले इसी शताब्दी अस्पताल में चूहों द्वारा एक अन्य मरीज को कुतरने का मामले सामने आया था। इसके पहले पैरालिसिस का इलाज कराने के लिए अस्‍पताल में भर्ती हुई प्रमिला नेरुरकर (4 अक्टूबर की रात) जब वह अस्पताल के कमरे में सो रही थी, तब उनकी आंख और पैर चूहों ने कुतर दिए। पैरालिसिस होने की वजह से वह दर्द के मारे छटपटाती रहीं, लेकिन कुछ न कर पाईं। इसी बीच उनकी बगल में बिस्तर पर सो रहे एक मरीज की जब चूहों पर नज़र पड़ी तो उन्होंने चूहों को भगाया।

{ यह भी पढ़ें:- मुंबई में हादसे का पुल: मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख की घोषणा, घायलों को मुफ्त इलाज }