उलझ गयी IAS अधिकारी की मौत की मिस्ट्री, PM रिपोर्ट में रहस्य बरकरार

Murder Mystery Of Ias Officer Anurag Tiwari

लखनऊ। 35 साल के कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का राजफाश नहीं हो सका। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बावजूद उनकी मौत का रहस्य बरकरार है। पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण दम घुटना बताया गया है और विसरा प्रीजर्ब कर लिया गया है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। पोस्टमार्टम के बाद अनुराग के परिजन शव लेकर बहराइच के लिए रवाना हो गए हैं।




पहले पोस्टमार्टम के बाद ‘केमिकल एनालिसिस भी कराया जा रहा है। ऐसा एनालिसिस तब होता है जब कोई जहरीला पदार्थ खाने से किसी की मौत हुई हो। एसएसपी दीपक कुमार भी इस बात से इनकार नहीं कर रहे हैं कि जहरीला पदार्थ भी मौत की वजह हो सकती है। अगर ऐसा होता है तो यह मामला गम्भीर हो जायेगा कि आखिर जहर उन्हें किसने दिया?


एसएसपी की माने तो आनुराग की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लिखा है कि शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने से मौत हुई। ऐसा कई बार बीमारी से भी होता है। पर, डॉक्टरों ने इसे फिलहाल मौत की वजह नहीं माना है। यही वजह है कि विसरा सुरक्षित कर लिया गया है। हार्ट अटैक तो नहीं हुआ? इसे पता करने के लिये ही दिल सुरक्षित रख लिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह साफ लिखा है कि उनकी मौत बुधवार तड़के हुई है।



संदेह पैदा करते चोट के निशान
पोस्टमार्टम के दौरान शरीर पर कई जगह चोट के निशान भी मिले हैं। ठुड्डी के नीचे चोट थी। ऊपर का दांत निचले होठ में धंसा मिला। बायें घुटने व बांये हाथ में खरोंच के कई निशान मिले हैं। हालांकि इन चोटों को मौत की वजह नहीं माना गया है लेकिन कही न कही ये निशान एक संदेह जरूर पैदा करते है।

लखनऊ। 35 साल के कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का राजफाश नहीं हो सका। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बावजूद उनकी मौत का रहस्य बरकरार है। पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण दम घुटना बताया गया है और विसरा प्रीजर्ब कर लिया गया है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। पोस्टमार्टम के बाद अनुराग के परिजन शव लेकर बहराइच के लिए रवाना हो गए हैं। पहले पोस्टमार्टम…