1. हिन्दी समाचार
  2. एटा में पांच लोगों का मर्डर: फेसबुक मैसेंजर में छिपा है हत्यारे का राज, दो हिरासत में

एटा में पांच लोगों का मर्डर: फेसबुक मैसेंजर में छिपा है हत्यारे का राज, दो हिरासत में

Murder Of Five People In Etah The Secret Of The Killer Is Hidden In Facebook Messenger Two In Custody

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के एटा जिले में स्वास्थ्य अधिकारी के परिवार के पांच लोगों की हत्या के मुख्य आरोपी का सुराग मिल गया है। पुलिस का दावा है कि हत्या में जो जहरीला पदार्थ प्रयोग किया गया था, उससे परिवार के सभी लोग बेहोश हो गए। इसके बाद उन सबका गला दबा दिया गया। पुलिस का दावा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले दबाने की तो पुष्टि हुई है, लेकिन मौत का कारण गला दबाना नहीं है।

पढ़ें :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 8 ट्रेनों को दिखाएंगे हरी झंडी, सीधे पहुंचाएगी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

पांच लोगों की मौत की गुत्थी को सुलझाने में पुलिस की टीमें दिन रात काम कर रही हैं। परिवार की बहू दिव्या और उसकी बहन बुलबुल के मोबाइल से पुलिस को अहम सुबूत मिले हैं। दोनों के फेसबुक मैसेंजर से पुलिस को हत्या में शामिल मास्टर माइंड का पता चल गया है। पुलिस ने पूछताछ के लिए दो युवकों को हिरासत में ले लिया है।

अधिकारियों का दावा है कि पुलिस की दो टीमें दिव्या और बुलबुल के फेसबुक मैसेंजर के मैसेज पढ़ रही थी। इनसे मिली जानकारी से वारदात के राजफाश के लिए पर्याप्त सुबूत मिल गए हैं। पूछताछ के लिए दो लोग हिरासत में लिए गए हैं। वह भी पुलिस की पड़ताल की पुष्टि कर रहे हैं। पूरे परिवार की फेसबुक को भी पुलिस ने खंगाला है। इसमें कुछ ऐसे तथ्य मिले हैं जो दिव्या के आत्महत्या करने की ओर इशारा कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य अधिकारी की बहू दिव्या काफी समय से वह तनाव में थी। तनाव में बढ़ रहे गुस्से के कारण ही उसने पूरे दिन खाना नहीं खाया था। इस गुत्थी तक पुलिस के हाथ पहुंच गए हैं। बस एक दो दिन में इसका पूरा खुलासा कर दिया जाएगा। इसमें पुलिस यह भी बता देगी कि परिवार में जो कलह थी वह क्या थी। पुलिस की दो टीमें जो प्रदेश से बाहर गई हैं वह अभी लौटी नहीं हैं। इनके पास भी तथ्य बताए जा रहे हैं।

पुलिस को जहर पहुंचाने वाले की तलाश
परिवार के पांचों लोगों को जहर देने की भी पुष्टि हुई है। एक वर्ष के आरव के होठ और मुंह पर भी जहर मिला है। सूत्रों की मानें तो जो जहर दिया गया है वह सल्फास जैसा ही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो बदबू की बात कही गई है वह लहसुन जैसी दुर्गंध है। इस घटना के लिए तैयारियां कर ली गई थी। सवाल यह है कि आखिर जहर लाकर किसने दिया। लॉकडाउन के चलते घर से निकलना बंद था। ऐसे में वह कौन व्यक्ति था जिसने घर में जहर पहुंचाया।

पढ़ें :- कोरोना वैक्सीनेशन पर राजनाथ सिंह ने दिया विपक्ष को जवाब, कहा-मंत्री कब लगवाएंगे टीका

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...