बहादुर हसन ने कुएं में घुसकर बछड़े को बचााया, लोग कर रहे हैं तारीफ

a

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी निगोहां के दयालपुर गांव में रविवार देर रात एक 40 फिट गहरे कुएं में एक बछड़ा गिर गया। गांव के लोगों ने कोशिश बहुत की पर नाकाम रहे। इसके बाद हसन नाम के एक युवक ने हिम्मत दिखायी और कुएं में अकेला ही उतर गया। हसन ने किसी तरह बछड़े को सकुशल बाहर निकाल लिया। हसन की इस बहादुरी के बाद गांव वालों ने उसकी जमकर तारीफ की।

Muslim Boy Hassan Pulled Out Cow From Deep Well :


बताया जाता है कि निगोहां के दयालपुर गांव मेें एक 40 फिट गहरे कुएं में रविवार की रात एक गाय का बछड़ा अचानक गिर पड़ा। ग्रामीणों को जानकारी हुई तो निकालने का प्रयास किया लेकिन रात होने के कारण बछड़े को निकालने में असफ ल रहे। इसके बाद सोमवार सुबह होते ही ग्रामीणों ने निगोहां पुलिस को सुचना दी।

इस बीच गांव में रहने वाला हसन भी वहां पहुंचा। वह बिना कुछ सोचे समझे बिना किसी सुरक्षा मानकों के ही कुएं में उतर गया। हसन ने काफी मशक्कत के बाद बछड़े को बाहर निकाल लाया। इसके बाद निगोहा थाने के दरोगा ने हसन को 50 रुपये बतौर इनाम दिया और वहां से चलते बने।

अब गांव के लोग हसन की इस बहादुरी को लेकर उसकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। वहीं हसन को 50 रुपये दिये जाने पर गांव के लोग दारोगा की आलोचना भी कर रहे हैं। ग्रामीणो ने बताया कि पिछले एक दशक से गांव का कुआं बेकार पड़ा था। इसके चलते उस कुएं में बड़ी-बड़ी झाडिय़ां उगी थीं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी निगोहां के दयालपुर गांव में रविवार देर रात एक 40 फिट गहरे कुएं में एक बछड़ा गिर गया। गांव के लोगों ने कोशिश बहुत की पर नाकाम रहे। इसके बाद हसन नाम के एक युवक ने हिम्मत दिखायी और कुएं में अकेला ही उतर गया। हसन ने किसी तरह बछड़े को सकुशल बाहर निकाल लिया। हसन की इस बहादुरी के बाद गांव वालों ने उसकी जमकर तारीफ की।


बताया जाता है कि निगोहां के दयालपुर गांव मेें एक 40 फिट गहरे कुएं में रविवार की रात एक गाय का बछड़ा अचानक गिर पड़ा। ग्रामीणों को जानकारी हुई तो निकालने का प्रयास किया लेकिन रात होने के कारण बछड़े को निकालने में असफ ल रहे। इसके बाद सोमवार सुबह होते ही ग्रामीणों ने निगोहां पुलिस को सुचना दी।

इस बीच गांव में रहने वाला हसन भी वहां पहुंचा। वह बिना कुछ सोचे समझे बिना किसी सुरक्षा मानकों के ही कुएं में उतर गया। हसन ने काफी मशक्कत के बाद बछड़े को बाहर निकाल लाया। इसके बाद निगोहा थाने के दरोगा ने हसन को 50 रुपये बतौर इनाम दिया और वहां से चलते बने।

अब गांव के लोग हसन की इस बहादुरी को लेकर उसकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। वहीं हसन को 50 रुपये दिये जाने पर गांव के लोग दारोगा की आलोचना भी कर रहे हैं। ग्रामीणो ने बताया कि पिछले एक दशक से गांव का कुआं बेकार पड़ा था। इसके चलते उस कुएं में बड़ी-बड़ी झाडिय़ां उगी थीं।