1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. अब ‘Muslim Personal Law Board’ के बिगड़े बोल, कहा- हिंदुस्तान के मुसलमान का तालिबान को सलाम

अब ‘Muslim Personal Law Board’ के बिगड़े बोल, कहा- हिंदुस्तान के मुसलमान का तालिबान को सलाम

तालिबान (Taliban) को लेकर देश में विवादित बयानों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तालिबान को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (Muslim Personal Law Board) के  प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी (Maulana Sajjad Nomani) भी तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया है। मौलाना सज्जाद नोमानी ने कहा कि तालिबान की जीत उन्हें सलामी का हकदार बना देती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। तालिबान (Taliban) को लेकर देश में विवादित बयानों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तालिबान को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (Muslim Personal Law Board) के  प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी (Maulana Sajjad Nomani) भी तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया है। मौलाना सज्जाद नोमानी ने कहा कि तालिबान की जीत उन्हें सलामी का हकदार बना देती है।

पढ़ें :- Afghanistan : अफगान लड़कियों को माध्यमिक स्कूलों में पढ़ने की मिलेगी इजाजत, शिक्षा से वंचित नहीं रहेंगी

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (All India Muslim Personal Law Board) के प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी (Spokesperson Maulana Sajjad Nomani) ने तालिबान के समर्थन करते हुए कहा कि एक बार फिर यह तारीख रकम हुई है। एक निहत्थी कौम ने सबसे मजबूत फौजों को शिकस्त दी है। काबुल के महल में वे दाखिल हुए। उनके दाखिले का अंदाज पूरी दुनिया ने देखा। उनमें कोई गुरूर और घमंड नहीं था। बड़े बोल नहीं थे। वे नौजवान काबुल की सरजमीं को चूम रहे हैं। मुबारक हो। आपको दूर बैठा हुआ यह हिंदी मुसलमान सलाम करता है। आपके हौसले को सलाम करता है। आपके जज्बे को सलाम करता है।

इससे पहले सपा सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क (SP MP Shafiqur Rahman Burke) ने अफगानिस्तान में तालिबान पर कब्जे की तुलना भारत में ब्रिटिश राज से करते हुए बयान दिया था। उन्होंने कहा था, ‘हिंदुस्तान में जब अंग्रेजों का शासन था और उन्हें हटाने के लिए हमने संघर्ष किया, ठीक उसी तरह तालिबान ने भी अपने देश को आजाद किया।’ उन्होंने तालिबान की तारीफ करते हुए कहा था, ‘इस संगठन ने रूस, अमेरिका जैसे ताकतवर मुल्कों को अपने देश में ठहरने नहीं दिया। बता दें कि ऐसे ही बयान को लेकर यूपी में संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया जा चुके हैं। यूपी पुलिस (UP Police) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद शफीकुर्र रहमान बर्क और दूसरे पार्टी नेताओं के खिलाफ भी मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है।

अफगानिस्तान ( Afghanistan) पर तालिबान के कब्जे के बाद अब भारत में भी राजनीति बयानबाजी तेज हो गई है। सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और AIMPLB के प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी की ओर से तालिबान की सराहना पर बीजेपी(BJP) ने पलटवार किया है। योगी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा (Minister Mohsin Raza in Yogi government) ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नहीं इसका नाम मुल्ला पर्सनल लॉ बोर्ड (Mulla Personal Law Board) है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस तरह की विचारधारा अब सामने आ रही हैं, क्योंकि इन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है।

मोहसिन रजा (Mohsin Raza)ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि ये मुल्ला पर्सनल लॉ बोर्ड (Mulla Personal Law Board)  है, ये मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (Muslim Personal Law Board) नहीं है। इन मुल्लाओं का का विचार क्या हो सकता है, ये नौजवानों को आईएसआईएस की तरफ ले जाना चाहते हैं। ये युवाओं को आतंक की आग में झोंकना चाहते हैं। जिस तरह ये तालिबान से इंप्रेस होकर तालिबान को अपना आदर्श मान रहे हैं इनसे बहुत खतरा है देश को।

पढ़ें :- Afghanistan : तालिबान का नया फरमान, कोर्ट के हुक्म के बिना सरेआम लोगों को मारकर न लटकाएं

मोहसिन रजा (Minister Mohsin Raza) ने आगे कहा कि अभी तक ये लोग दबे हुए थे। अब इनकी विचारधारा सामने आ रही है क्योंकि इन्हें राजनीतिक दलों का संरक्षण प्राप्त है। सपा मुखिया अखिलेश यादव (SP chief Akhilesh Yadav) को सामने आकर अपनी बात साफ करना चाहिए कि ऐसे आतंकी विचारधारा के लोग आपके पास क्यों हैं और आपका संरक्षण क्यों है? यही सब संरक्षण देते हैं ऐसी संस्थाओं को।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...