पति ने स्पीड पोस्ट से दिया तलाक, पत्नी ने मोदी और योगी से ट्वीट कर मांगी मदद

कानपुर| प्रधानमंत्री मोदी द्वारा तीन तलाक का मुद्दा उठाए जाने के बाद महिलाएं इस मामले पर और मुखर होकर सामने आ रही हैं| ऐसा ही एक मामला कानपुर से आया है जहां पति ने अपनी पत्नी को कोरियर से 3 तलाक भेजा है| पीड़िता का कहना है कि वो केवल एक ही दिन कि दुल्हन बन पाई| पीड़िता ने इस बात का विरोध करते हुए पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को ट्वीट कर इंसाफ की मांग की है| वह अब मामले को सुप्रीम कोर्ट में ले जाना चाहती हैं|



पीड़िता ने सुनाई आपबीती:

मामला यूपी के कानपुर जिले का हैं| पीड़िता ने बताया कि 10 साल पहले पिता का देहांत हो जाने के बाद वो अपनी मां को लेकर कानपुर में शिफ्ट हो गयी थी| कानपुर में वो एक किराए पर कमरा लेकर प्राइवेट जॉब करने लगी| पीड़िता के मुताबिक, 2016 में Shadi.com पर कन्नौज निवासी नासिर ने उसकी प्रोफ़ाइल को देख उससे संपर्क किया था| इसके बाद हमारी फोन पर भी बात होने लगी| जिसके बाद नासिर ने मुझसे बिन दहेज के शादी करने की बात कही|

पीड़िता ने बताया की कुछ दिनों बात नासिर के घरवाले उसे देखने आये और शादी भी तय कर दी गई| नासिर की मां ने 1 भी रुपये दहेज के नहीं मांगे। 23 नवम्बर 2016 को इलाहाबाद में हमारा निकाह हुआ| निकाह के तुरंत बाद ही नासिर ने फॉर्च्यूनर कार और 25 लाख रुपए की डिमांड रख दी| दोस्त रिश्तेदारों के समझाने पर वह विदाई के लिए तैयार हुआ| विदाई करके बारात वापस जाने लगी तब नासिर ने रात का बहाना कर के कानपुर के लैंडमार्क होटल में ही रुकने को कहा उसके साथ में मैं भी वही रुक गयी थी। बाकी रिश्तेदार कन्नौज निकाल गए थे| दूसरे दिन सुबह उठकर नासिर ने फिर से दहेज की बात उठाकर मारपीट शुरू कर दी| जब दोस्तों ने उसे समझाया तो नासिर मुझे ससुराल लेकर आया| ससुराल पहुंचकर में जैसे ही अपने कमरे गयी तो वहां पर किसी महिला के इनरवेयर पड़े हुए थे। काफी पूछने पर नासिर के घरवालों ने बताया कि नासिर की पहले भी एक शादी हो चुकी है पर अब उससे तलाक हो गया हैं|




इस बात का जब मैंने विरोध किया तो घरवालों ने मुझे मारना पीटना शुरू कर दिया और मुझे घर से बाहर निकाल दिया| मजबूरन मुझे कानपुर वाले घर वापस लौटना पड़ा| साल 2017 में फैमिली के समझाने पर मैं दोबारा से ससुराल गई लेकिन उन लोगों ने फिर मुझे भगा दिया| 27 जनवरी को मुझे एक कोरियर मिला, जिसमें एक कागज पर 3 तलाक लिखा हुआ था| मैंने इसका विरोध करते हुए तत्कालीन श्रम मंत्री, सीएम और गवर्नर को लेटर लिखकर श‍िकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई|

पीएम और सीएम को किया ट्वीट:

पीड़िता ने नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ को ट्वीट करते हुए लिखा है, “सर, मेरे हसबैंड एक गवर्नमेंट इम्प्लॉई हैं। उन्होंने दो शादियां कर रखी हैं| कृपया मदद करें। मेरे पति का नाम नासिर खान है| वो इस समय बिजनौर में सहायक श्रम आयुक्त हैं| मेरे पति ने स्पीड पोस्ट के जरिए एक लेटर में 3 तलाक लिखकर भेजा है| आप मिलने का समय दें…गिव मी जस्टिस|”