1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Muzaffarnagar Kisan Mahapanchayat : प्रियंका गांधी बोलीं- किसानों की हुंकार के सामने किसी भी सत्ता का नहीं चलता अहंकार

Muzaffarnagar Kisan Mahapanchayat : प्रियंका गांधी बोलीं- किसानों की हुंकार के सामने किसी भी सत्ता का नहीं चलता अहंकार

Muzaffarnagar Kisan Mahapanchayat : कांग्रेस (Congress)  की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने केन्द्र के कृषि कानूनों का विरोध (protest against agricultural laws) कर रहे किसानों के आंदोलन को सही ठहराया है। रविवार को ट्वीट कर कहा कि किसान देश का गौरव है और उनकी बात जरूर सुनी जानी चाहिए।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली । Muzaffarnagar Kisan Mahapanchayat : कांग्रेस (Congress)  की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने केन्द्र के कृषि कानूनों का विरोध (protest against agricultural laws) कर रहे किसानों के आंदोलन को सही ठहराया है। रविवार को ट्वीट कर कहा कि किसान देश का गौरव है और उनकी बात जरूर सुनी जानी चाहिए।

पढ़ें :- पीएम मोदी की रैली से पहले जिला प्रशासन की नई शर्त पत्रकारों को देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र

श्रीमती वाड्रा ने यूपी के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) जिले में चल रही किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) का समर्थन करते हुए कहा कि देश का किसान अपना हक मांगने की लड़ाई लड़ रहा है। किसी भी सरकार को उनकी हुंकार का जवाब अहंकार से नहीं देना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया कि किसान इस देश की आवाज हैं। किसान देश का गौरव हैं। किसानों की हुंकार के सामने किसी भी सत्ता का अहंकार नहीं चलता। खेती-किसानी को बचाने और अपनी मेहनत का हक मांगने की लड़ाई में पूरा देश किसानों के साथ है। मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत।

बता दें कि इस महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि जब तक तीनों कृषि विरोधी कानून वापस नहीं लिए जाते किसानों का धरना जारी रहेगा। वह घर नहीं लौटेंगे। जिसके बाद  राकेश टिकैत आज पहली बार अपने गृह जनपद पहुंचे हैं। खास बात यह भी है कि ऐसा पहली बार होगा कि जब टिकैत परिवार एक साथ महापंचायत के मंच पर नजर आएगा। हालांकि भारतीय किसान यूनियन के नेता धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि राकेश टिकैत घर नहीं जाएंगे, यहां पंचायत के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर लौट जाएंगे।

मुजफ्फरनगर के जीआईसी मैदान से संयुक्त मोर्चा की होने वाली महापंचायत इतिहास लिखने को बेताब है। इस मैदान की खासियत रही है कि जब-जब यहां सत्ताधारी पार्टी के विरोध में पंचायत का आयोजन हुआ है तो सत्ताधारी पार्टी को आगामी चुनाव में मुंह की खानी पड़ी है। इस महापंचायत में यूपी के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, गुड़गांव अन्य राज्यों से भी किसान भारी संख्या में महापंचायत में पहुंच रहे हैं।

पढ़ें :- पीएम मोदी ने अखिलेश से फोन पर पूछा मुलायम सिंह का हालचाल, साथ ही हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

हाईवे पर दूर-दूर तक ट्रैक्टर ट्रॉली का काफिला दिखाई दे रहा है। इस दौरान हाईवे पर जाम की स्थिति भी बनी हुई है। जिस कारण अन्य वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। किसान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। वहीं, किसान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...