मुजफ्फरनगर : अब मिड डे मील में मिला चूहा, खाने से 9 बच्चे हुए ​बीमार, अखिलेश ने उठाये सवाल

midday meal
मुजफ्फरनगर : अब मिड डे मील में मिला चूहा, खाने से शिक्षक समेत नौ बच्चे हुए ​बीमार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विघालयों में बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील में लापरवाही रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ रहा है। सोनभद्र में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 80 बच्चों को पिलाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि मुजफ्फरनगर में एक और घटना सामने आई है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए टृवीट किया कि ‘भाजपा सरकार से आग्रह है कि वो अपना पेट कहीं और से भर ले पर बच्चों के जीवन से न खेले’

Muzaffarnagar Now A Rat Was Found In The Mid Day Meal Nine Children Including The Teacher Became Ill By Eating :

 

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के एक स्कूल में मिड डे मील की दाल में मरा हुआ चूहा मिला। जब तक दाल में चूहा होने की जानकारी मिलती इससे पहले ही कई बच्चों व स्टाफ ने खाना खा लिया था, जिससे उनकी तबियत बिगड़ गई थी। जिस कारण उनकी तबियत खराब हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मुजफ्फरनगर के इस स्कूल में रोजाना आने वाला मिड-डे मील, हापुड़ में स्थित जन कल्याण संस्था द्वारा बनाया जाता है। मंगलवार को मिड-डे मील का खाना खाने से 9 बच्चे और 1 शिक्षक की तबियत बिगड़ गई, जिन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया और एक घंटे बाद उन्हें वापस भेज दिया गया।

वहीं रिपोर्टर से बात करते हुए स्थानीय शिक्षा अधिकारी, राम सागर त्रिपाठी ने इस घटना को लापरवाही का उदाहरण बताया. उन्होंने कहा, ”मिड-डे मील योजना के तहत यह खाना जन कल्याण संस्था विकास कमिटी बनाती है और आज दाल के अंदर चूहा मिला. इसकी जानकारी मिलते ही हमने खाना देना बंद कर दिया. घटना में 9 बच्चों की तबियत बिगड़ी और उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन बाकी सब ठीक हैं. यहां कोई दिक्कत नहीं है… यह केवल लापरवाही थी”.

गौरतलब है कि पिछले कुछ हफ्तों से यूपी सरकार गलत कारणों से सुर्खियों में बनी हुई है। बता दें, पिछले हफ्ते ही सोनभद्र के एक स्कूल में 85 बच्चों को एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर पिलाए जाने का वीडियो सामने आया था। वीडियो में रसोइया, हाथ में स्टील का गिलास पकड़ कर दूध का इंतजार कर रहे बच्चों को मिलावट वाला दूध पिलाते हुए नजर आया था।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विघालयों में बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील में लापरवाही रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ रहा है। सोनभद्र में एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर 80 बच्चों को पिलाने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि मुजफ्फरनगर में एक और घटना सामने आई है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए टृवीट किया कि 'भाजपा सरकार से आग्रह है कि वो अपना पेट कहीं और से भर ले पर बच्चों के जीवन से न खेले'   जानकारी के मुताबिक मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के एक स्कूल में मिड डे मील की दाल में मरा हुआ चूहा मिला। जब तक दाल में चूहा होने की जानकारी मिलती इससे पहले ही कई बच्चों व स्टाफ ने खाना खा लिया था, जिससे उनकी तबियत बिगड़ गई थी। जिस कारण उनकी तबियत खराब हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। मुजफ्फरनगर के इस स्कूल में रोजाना आने वाला मिड-डे मील, हापुड़ में स्थित जन कल्याण संस्था द्वारा बनाया जाता है। मंगलवार को मिड-डे मील का खाना खाने से 9 बच्चे और 1 शिक्षक की तबियत बिगड़ गई, जिन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया और एक घंटे बाद उन्हें वापस भेज दिया गया। वहीं रिपोर्टर से बात करते हुए स्थानीय शिक्षा अधिकारी, राम सागर त्रिपाठी ने इस घटना को लापरवाही का उदाहरण बताया. उन्होंने कहा, ''मिड-डे मील योजना के तहत यह खाना जन कल्याण संस्था विकास कमिटी बनाती है और आज दाल के अंदर चूहा मिला. इसकी जानकारी मिलते ही हमने खाना देना बंद कर दिया. घटना में 9 बच्चों की तबियत बिगड़ी और उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन बाकी सब ठीक हैं. यहां कोई दिक्कत नहीं है... यह केवल लापरवाही थी''. गौरतलब है कि पिछले कुछ हफ्तों से यूपी सरकार गलत कारणों से सुर्खियों में बनी हुई है। बता दें, पिछले हफ्ते ही सोनभद्र के एक स्कूल में 85 बच्चों को एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाकर पिलाए जाने का वीडियो सामने आया था। वीडियो में रसोइया, हाथ में स्टील का गिलास पकड़ कर दूध का इंतजार कर रहे बच्चों को मिलावट वाला दूध पिलाते हुए नजर आया था।