दिल्ली में आप— कांग्रेस गठबंधन का मतलब बीजेपी की हार : राहुल गांधी

rahul gandhi
दिल्ली में आप— कांग्रेस गठबंधन का मतलब बीजेपी की हार: राहुल गांधी

नई दिल्ली। दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन को लेकर चल रही कश्मकश समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि वह दिल्ली में बीजेपी को हराने के लिए आप को चार सीटें देने के लिए तैयार है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली सीएम अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि हमारा प्रयास अंत तक जारी रहेगा।

N Delhi Aap Congress Combine Means Defeat Of Bjp Rahul Gandhi :

बता दें आम आदमी पार्टी से गठबंधन को लेकर राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, ‘दिल्ली में कांग्रेस और आप गठबंधन का मतलब बीजेपी की हार होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कांग्रेस ने आप को दिल्ली की चार सीटें देने के लिए तैयार है। लेकिन इसके लिए अरविंद केजरीवाल जी ने दूसरा यूटर्न ले लिया। दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं, लेकिन समय निकला जा रहा है’।

वहीं केजरीवाल कहा चुके है, ”देश खतरे में है। हम इसे बचाने के लिए कुछ भी करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से देश को बचाने के लिए हमारे प्रयास जारी रहेंगे।” उनके साथ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी मौजूद थे। उन्होंने आप के साथ गठबंधन पर सवाल को टाल दिया और यह कहते हुए गेंद केजरीवाल के पाले में डाल दी कि ”वह बेहतर जानते हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन को लेकर चल रही कश्मकश समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि वह दिल्ली में बीजेपी को हराने के लिए आप को चार सीटें देने के लिए तैयार है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली सीएम अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि हमारा प्रयास अंत तक जारी रहेगा।

बता दें आम आदमी पार्टी से गठबंधन को लेकर राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, 'दिल्ली में कांग्रेस और आप गठबंधन का मतलब बीजेपी की हार होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कांग्रेस ने आप को दिल्ली की चार सीटें देने के लिए तैयार है। लेकिन इसके लिए अरविंद केजरीवाल जी ने दूसरा यूटर्न ले लिया। दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं, लेकिन समय निकला जा रहा है'।

वहीं केजरीवाल कहा चुके है, ''देश खतरे में है। हम इसे बचाने के लिए कुछ भी करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से देश को बचाने के लिए हमारे प्रयास जारी रहेंगे।" उनके साथ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी मौजूद थे। उन्होंने आप के साथ गठबंधन पर सवाल को टाल दिया और यह कहते हुए गेंद केजरीवाल के पाले में डाल दी कि ''वह बेहतर जानते हैं।