Nag Panchami 2018: जानिए कब है नाग पंचमी और शुभमुहूर्त

Nag Panchami 2018,कब है नाग पंचमी
Nag Panchami 2018: जानिए कब है नाग पंचमी और शुभमुहूर्त

लखनऊ। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी के रूप में मनाया जाता है। हालांकि बिहार, बंगाल, उड़ीसा, राजस्थान में लोग कृष्ण पक्ष में यह त्योहार मनाते हैं जो इस साल 2 अगस्त को पड़ रहा है। हिन्दू धर्म में नाग पंचमी का खास महत्व होता है और इस दिन देश के कई राज्यों में सर्प पूजन भी होता है। नागपंचमी के दिन 12 सर्प स्वरूपों की पूजा की जाती है और दूध चढ़ाया जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर अपनी कृपा बरसाते हैं।

बता दें कि इस साल नागपंचमी का त्योहार 15 अगस्त को मनाया जाएगा। भोले बाबा को प्रसन्न करने के लिए इस दिन नाग भक्त फल, फूल, प्रसाद दुग्ध स्नान और मंत्रों के साथ सर्पों की पूजा करते हैं। नागपंचमी के इस पवित्र अवसर पर रुद्राभिषेक का भी खास महत्व है।

{ यह भी पढ़ें:- आखि‍र क्यों सिर्फ नागपंचमी पर ही खुलते हैं इस शिव मंदिर के कपाट }

नागपंचमी का शुभ मुहूर्त–

पूजा का सबसे शुभ मुहूर्त – 15 अगस्त को सुबह 05:55 से 8:31 तक
पंचमी तिथि प्रारंभ – 15 अगस्त को सुबह 03:27 बजे शुरू
पंचमी तिथि समाप्ति – 16 अगस्त को सुबह 01:51 बजे खत्म

{ यह भी पढ़ें:- नागपंचमी के दिन इन नागों की जाती है पूजा, जानिए मुहू्र्त का सही समय }

लखनऊ। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी के रूप में मनाया जाता है। हालांकि बिहार, बंगाल, उड़ीसा, राजस्थान में लोग कृष्ण पक्ष में यह त्योहार मनाते हैं जो इस साल 2 अगस्त को पड़ रहा है। हिन्दू धर्म में नाग पंचमी का खास महत्व होता है और इस दिन देश के कई राज्यों में सर्प पूजन भी होता है। नागपंचमी के दिन 12 सर्प स्वरूपों की पूजा की जाती है और दूध चढ़ाया जाता है।…
Loading...