1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नगरोटा एनकाउंटर: आतंकियों का जम्मू की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ने का इरादा…

नगरोटा एनकाउंटर: आतंकियों का जम्मू की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ने का इरादा…

Nagrota Encounter Terrorists Intend To Break The Back Of Jammus Economy

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: कश्मीर तथा पंजाब के रास्ते अर्थात उत्तर और दक्षिण से आने वाले आतंकियों ने जम्मू क्षेत्र के लोगों की चिंता बढ़ा दी है। आतंकी विश्व प्रसिद्ध तीर्थस्थान वैष्णो देवी को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं साथ ही वे आर्थिक तौर पर भी जम्मू को भी नुकसान पहुंचाना चाहते हैं।

पढ़ें :- पाकिस्तान हुआ विश्व के सामने बेनकाब, भारत ने नगरोटा एनकाउंटर से संबंधित सौंपे दस्तावेज

हालांकि वर्ष 2018 में 13 सितंबर को हुए आतंकी हमले के बाद वैष्णो देवी के तीर्थस्थान की सुरक्षा को इसलिए बढ़ाया गया था क्योंकि मिलने वाली सूचनाएं और दस्तावेज कहते थे कि आतंकियों का निशाना वैष्णो देवी का तीर्थस्थान था। इससे पहले भी पंजाब के रास्ते जम्मू के सांबा तक पहुंच जाने वाले आतंकियों के निशाने पर भी वैष्णो देवी तीर्थस्थान ही था।

अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ने का इरादा

गुरुवार को बन टोल प्लाजा और पहले वैष्णो देवी यूनिवर्सिटी के पास मारे गए आतंकी जम्मू बॉर्डर से अर्थात दक्षिण से उत्तर की ओर बढ़ते हुए जम्मू में अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ने का इरादा लेकर निकले थे। ऐसे ही इरादे उन आतंकियों के भी थे जो कई बार पंजाब के रास्ते तारबंदी को पार कर जम्मू क्षेत्र के कठुआ, हीरानगर और सांबा में राजमार्गों पर कई सैन्य यूनिटों पर आत्मघाती हमले बोल चुके थे।

ऐसे हमलों के बाद भी अर्थव्यवस्था को ढलान पर देखा गया था क्योंकि हमलों के बाद जम्मू कश्मीर में आने वाले टूरिस्टों के साथ-साथ वैष्णो देवी आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में जबरदस्त कमी आई थी। जानकारी के लिए जम्मू-पठानकोट तथा जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे का इस्तेमाल राज्य में आने वाले टूरिस्टों और वैष्णो देवी के श्रद्धालुओं द्वारा किया जाता है और प्रत्येक हमले ने सबसे ज्यादा उन्हें ही दहशतजदा किया है।

पढ़ें :- Nagrota encounter Exclusive: 200 मीटर लंबी सुरंग से भारत में घुसे थे आतंकी, BSF की जांच मे हुआ खुलासा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...