1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Nagrota encounter: आखिर कहां से आए टोल प्लाजा पर मरने वाले 4 आतंकी?, अभी खुलने बाकी कई राज

Nagrota encounter: आखिर कहां से आए टोल प्लाजा पर मरने वाले 4 आतंकी?, अभी खुलने बाकी कई राज

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Nagrota Encounter Where Did The 4 Terrorists Who Died On The Toll Plaza Come From

नगरोटा : बन टोल प्लाजा नगरोटा में कल जैशे मुहम्मद के जिन 4 आतंकियों को मार गिराया था। फिलहाल अभी तक इस बात काई कोई ठोस सबूत नहीं मिला कि वो कहां से आए थे।  क्योंकि इस मुद्दे पर बीएसएफ और पुलिस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो चुका है।

पढ़ें :- बड़ा कदम : इस राज्य में दो से ज्यादा बच्चे पैदा किए तो नहीं मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ

आपको बता दें, कल जारी मुठभेड़ के बीच ही पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने दावा कर दिया था कि आतंकी सांबा सेक्टर से घुसे थे और 70 किमी का सफर तय करके नगरोटा पहुंचे थे। जबकि अपने दावों के दौरान वे इस तथ्य को नजरअंदाज करते थे कि इस 70 किमी के यात्रा मार्ग में पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के तीन दर्जन से ज्यादा नाके थे और वे इन नाकों को कैसे पार कर गए।

पुलिस के मुताबिक 

पुलिस का कहना है कि आतंकी इंटरनेशनल बार्डर से घुसपैठ कर इस ओर आए थे। पर बीएसएफ इसे नहीं मानती। वह कहती है कि कहीं से कोई तारबंदी नहीं कटी है और सांबा सेक्टर में नदी-नालों में कहीं भी उनकी थर्मल इमेजस रिकार्ड नहीं की गई हैं।पहले यह भी आशंका व्यक्त की जा रही थी कि आतंकी सीमा क्षेत्र में उपस्थित किसी सुरंग से इस ओर आने में कामयाब हुए हैं जैसा कि पहले अतीत में कई बार हो चुका था। पर क्षेत्र की गहन पड़ताल के बाद भी बीएसएफ ऐसी किसी सुरंग का पता नहीं लगा पाई है।

हालांकि पिछले दो सालों में ऐसी 10 सुरंगों को नेस्तनाबूद किया गया था। ऐसे में यह सवाल और पेचिदा हो जाता था कि ये आतंकी कहां से और कब हिन्दुस्तान में दाखिल हुए थे। वर्ष 2016 में नगरोटा में ही हुए आतंकी हमले और पिछले साल जम्मू के सुंजवां में हुए एक अन्य आतंकी हमले में शामिल आतंकियों के प्रति भी अभी तक जो जानकारी उपलब्ध हुई है वह भी सिर्फ अंदाजे पर ही है।

पढ़ें :- राम मंदिर ट्रस्ट को ज़मीन बेचने वाला 420 का है आरोपी, पुलिस रिकॉर्ड में चल रहा है फरार

इतना जरूर था कि पठानकोट-जम्मू तथा जम्मू-उधमपुर राजमार्ग पर होने वाले प्रत्येक आतंकी हमले के उपरांत बीएसएफ और पुलिस के बीच ठनती रही है और बीएसएफ ने कभी भी इसे स्वीकार नहीं किया है कि आतंकी तारबंदी को क्रास कर इस ओर दाखिल हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X