1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Naim Ul Hasan jeevan parichay : बीजेपी के सबसे मजबूत गढ़ में नईमुल हसन ने दौड़ाई साइकिल

Naim Ul Hasan jeevan parichay : बीजेपी के सबसे मजबूत गढ़ में नईमुल हसन ने दौड़ाई साइकिल

Naim Ul Hasan jeevan parichay : यूपी (UP) के बिजनौर जिले (Bijnor District) की नूरपुर विधानसभा सीट (Noorpur constituency)  पर 2019 में हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के टिकट पर नईमुल हसन (Naim Ul Hasan) पहली बार विधायक निर्वाचित हुए हैं। बता दें कि इससे पहले 2017 में 17 वीं विधानसभा चुनाव (17th Legislative Assembly of Uttar Pradesh) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के टिकट पर मैदान में उतरे लोकेन्द्र सिंह चौहान (Lokendra Singh Chauhan)  से नईमुल हसन (Naim Ul Hasan)  को 12,000 से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Naim Ul Hasan jeevan parichay : यूपी (UP) के बिजनौर जिले (Bijnor District) की नूरपुर विधानसभा सीट (Noorpur constituency)  पर 2019 में हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के टिकट पर नईमुल हसन (Naim Ul Hasan) पहली बार विधायक निर्वाचित हुए हैं। बता दें कि इससे पहले 2017 में 17 वीं विधानसभा चुनाव (17th Legislative Assembly of Uttar Pradesh) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के टिकट पर मैदान में उतरे लोकेन्द्र सिंह चौहान (Lokendra Singh Chauhan)  से नईमुल हसन (Naim Ul Hasan)  को 12,000 से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा था।

पढ़ें :- Rama Shankar Singh Patel jeevan parichay : रमाशंकर दिग्गज कांग्रेसी को हराकर बने विधायक, योगी ने दिया मंत्री पद

इसके बाद उन्होंने नूरपुर के पूर्व विधायक लोकेन्द्र सिंह चौहान (Lokendra Singh Chauhan) के सड़क हादसे में निधन होने के पश्चात हुए उपचुनाव में राजनीतिक क्षेत्र में सफलता प्राप्त की है। नूरपुर विधानसभा (Noorpur constituency)  उपचुनाव में सपा प्रत्याशी नईमुल हसन (Naim Ul Hasan) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) से प्रत्याशी अवनि सिंह (Avani Singh) को 6 हजार से ज्‍यादा वोटों के अंतर से हराकर पहली बार विधायक बने हैं। नूरपुर विधानसभा सीट भारतीय जनता पार्टी के लिए यह सबसे ज्यादा मजबूत सीट मानी जाती रही है, जिसका कारण यहां भाजपा के प्रत्याशियों की ही जीत होना रहा है।

राजनीतिक कैरियर
नईमुल हसन 2000 में दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia in Delhi) के छात्र संघ के अध्यक्ष चुने जा चुके हैं। 2012 के विधानसभा चुनावों में, समाजवादी पार्टी ने उन्हें नूरपुर से अपना उम्मीदवार बनाया था, लेकिन सफलता नहीं मिली। हालांकि, इसके बावजूद समाजवादी पार्टी ने उन्हें मंत्री पद का तोहफा दे दिया। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अखिलेश यादव के काफी करीबी माने जाते हैं। उनकी पत्नी भी स्योहारा से नगर पालिका चेयरमैन रह चुकी है।

ये है पूरा सफरनामा
नाम- नईम उल हसन
निर्वाचन क्षेत्र – 24, नूरपुर विधानसभा सीट
जिला – बिजनौर
दल – समाजवादी पार्टी
पिता का नाम- स्व. महमूद उल हसन
जन्‍म तिथि –10 अगस्त, 1971
जन्‍म स्थान- स्योहारा
धर्म- इस्लाम
जाति- शेख चौधरी
शिक्षा- स्नातक
विवाह तिथि- सन् 1999
पत्‍नी का नाम- तरन्नुम मलिक
सन्तान- दो पुत्र, एक पुत्री
व्‍यवसाय- कृषि
मुख्यावास: मौ. मुस्लिम चौधरियान, कस्बा स्योहारा, तहसील-धामपुर, जिला-बिजनौर

राजनीतिक योगदान
अक्टूबर 2019 – सत्रहवीं विधान सभा के उपचुनाव में सदस्य प्रथम बार निर्वाचित
1995 – अध्यक्ष, जामिया मिलिया, इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली

पढ़ें :- Ratnakar Mishra jeevan parichay : मां विंध्यवासिनी मंदिर के पुरोहित रत्नाकर मिश्रा बने विधायक, 20 साल बाद खिलाया कमल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...