लव मैरिज: पहले की भाग कर शादी फिर लगाया दुष्कर्म का आरोप

नैनीताल। दोस्त की बारात में होने वाला प्यार गुजरात के बड़ोदरा में रहने वाले युवक के लिए भारी पड़ गया। राजस्थान में शादी के दौरान वहां की युवती से पहली नजर में प्यार हो गया और जब युवती की शादी कहीं और तय हुई तो दोनों ने भाग कर पहले चितई मंदिर में फिर रानीखेत आर्य समाज मंदिर में शादी रचा ली। तभी युवती के परिजनों ने युवक पर बहला फुसलाकर भगाने और दुष्कर्म का मुकदमा भी दर्ज करा दिया। दूसरी तरफ युवक ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर पत्नी को पेश करने की गुजारिश की।

जब अदालत से दबाव बढ़ना शुरू हुआ तो राजस्थान पुलिस युवती को लेकर नैनीताल पहुंची और उसे कोर्ट में पेश किया। कोर्ट में युवती ने कबूल किया कि वह युवक के साथ भागकर शादी कि लेकिन अब पति के बजाय माता-पिता के साथ जाने का फैसला लिया। इसके बाद पुलिस ने युवक को हिरासत में ले राजस्थान ले गई।

{ यह भी पढ़ें:- पसंदीदा मंत्रालय ना मिलने पर खफा हुए नितिन पटेल, हार्दिक बोले- कांग्रेस में अच्छा पद दिला देंगे }

मामला रानीखेत के इंदिरा बस्ती निवासी प्रदीप कुमार पुत्र गिरीश चंद्र की। प्रदीप के अनुसार उसने दो साल तक वडोदरा में नौकरी की। इसी साल नौ नवंबर को चितई में, फिर 14 नवंबर को उसने राजस्थान के थाना क्षेत्र दोवड़ा, जिला डूंगरपुर निवासी युवती के साथ आर्य समाज रानीखेत में शादी की। इसी बीच 15 नवंबर को राजस्थान पुलिस युवती को अपने साथ जबरन ले गई। बीवी को दिलाने के लिए हाई कोर्ट में याचिका दायर की।

गुरुवार को राजस्थान पुलिस के हेड कांस्टेबल राकेश कुमार व कांस्टेबल रोशन लाल युवती को लेकर नैनीताल पहुंचे और उसे हाई कोर्ट में पेश किया। प्रदीप के अधिवक्ता विनोद तिवारी के अनुसार युवती ने कोर्ट के समक्ष शादी होना स्वीकारा मगर माता-पिता के साथ जाने की इच्छा प्रकट की, जिसके बाद उसे परिजनों के हवाले कर दिया। तभी सूखाताल के समीप पुलिस ने प्रदीप को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई। कोतवाली में उसका भाई राहुल भी पहुंच गया। पुलिस ने आमद दर्ज कराने के बाद औपचारिकताएं पूरी की और उसे पूछताछ के लिए राजस्थान ले गई।

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी में मुस्लिम महिलाओं का रिएक्शन- 'गुजरात में Vote For Modi-Vote For BJP' }

Loading...