1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. नकुल दूबे बीएसपी से निष्कासन पर माया पर कसा तंज, बोले- मेरे और ब्राह्मण समाज के साथ हुआ न्‍याय

नकुल दूबे बीएसपी से निष्कासन पर माया पर कसा तंज, बोले- मेरे और ब्राह्मण समाज के साथ हुआ न्‍याय

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) से निष्कासन के बाद रविवार को पूर्व मंत्री नकुल दुबे (Nakul Dubey)  मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान नकुल दुबे (Nakul Dubey)  ने मायवती (Mayawati) पर पलटवार करते हुए कहा कि मेरे और मेरे संपूर्ण समाज के साथ न्‍याय हुआ है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) से निष्कासन के बाद रविवार को पूर्व मंत्री नकुल दुबे (Nakul Dubey)  मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान नकुल दुबे (Nakul Dubey)  ने मायवती (Mayawati) पर पलटवार करते हुए कहा कि मेरे और मेरे संपूर्ण समाज के साथ न्‍याय हुआ है।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मंत्री दुबे ने कहा कि मैं उनके (बसपा प्रमुख मायावती) प्रति आभार प्रकट करता हूं कि उन्‍होंने मुझे मुक्‍त कर दिया। उन्होंने कहा कि सर्व समाज के साथ मिलकर जो एक अजीबोगरीब वातावरण उत्पन्न हो गया है और लगातार चल रहा है। उसको रोकने के लिए नई मुहिम चलाओ।

वहीं, दुबे से जब पूछा गया कि आपके निष्कासन का कारण क्या है? क्या वह हालिया चुनावी हार के बाद हुई समीक्षा बैठक में शामिल हुए थे, तो उन्होंने कहा कि मैं समीक्षा बैठक में नहीं गया था। मैं मायावती से मिला नहीं था और न ही मेरी उनसे कोई बातचीत हुई है। आरोप है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में गलत फीडबैक देने के चलते दुबे को पार्टी से बाहर किया गया है।

 

मेरे और मेरे समाज के साथ हुआ न्‍याय
कारण बताओ नोटिस के बारे में पूछे जाने पर पूर्व मंत्री नकुल दुबे ने कहा कि मुझे न्याय दिया गया है। इसे अन्याय न कहें, यह मेरे साथ ही नहीं संपूर्ण समाज के साथ न्‍याय हुआ है।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Leader Mayawati) ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पूर्व मंत्री नकुल दुबे (Nakul Dubey)   को निकाल दिया था। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी थी। इसी बीच पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पार्टी के सिपहसलार की बीजेपी ने नजदीकियों की चर्चा तेज है। कयास लगाए जा रहे है कि बीजेपी (BJP) बसपा (BSP) में बड़ा सेंधमारी कर ब्राह्मण वोट बैंक साधने की कोशिश कर सकती है।

बसपा (BSP) सुप्रीमो विधानसभा चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा कर रही हैं। नकुल दुबे (Nakul Dubey)  को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की तैयारियों की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। बसपा सरकार व पार्टी में नकुल दुबे की गिनती बड़े ब्राह्मण चेहरे में होती थी। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि नकुल दुबे (Nakul Dubey)  को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने की वजह से निष्कासित किया गया है। उन्होंने कहा कि नकुल दुबे ((Nakul Dubey) ) बीएसपी पूर्व मंत्री को, पार्टी में अनुशासनहीनता अपनाने व पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण, इनको बीएसपी से निष्कासित कर दिया गया है।

पढ़ें :- Hindenburg Research Report से शेयर बाजार में मचा तहलका, अडानी ग्रुप में जानें कितना लगा है सरकारी पैसा, सकते में LIC और बड़े बैंक

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र (National General Secretary Satish Chandra Mishra) के करीबी नकुल दुबे (Nakul Dubey) बसपा (BSP) का दूसरा बड़ा ब्राह्मण चेहरा माना जाता रहा है। आरोप है कि विधानसभा चुनाव में गलत फीडबैक देने के चलते उन्हें पार्टी से बाहर किया गया है। वहीं पूर्व मंत्री नकुल दुबे (Nakul Dubey)  ने अभी अपने पत्ते तो नहीं खोले हैं कि वह किस दल में जाएंगे, लेकिन इतना जरूर कहा कि वह अपने सभी लोगों के साथ बैठक कर आगे के रणनीत‍ि पर चर्चा करेंगे। वह राजनीतिक दल में ही रहेंगे, लेकिन किस दल में यह नहीं बताया। नकुल दुबे (Nakul Dubey)  से जुड़े लोगों का कहना है कि वो एक-दो दिन में अपने समाज के साथ बैठक कर आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...