नमाज़ सिर्फ फर्ज़ अदाएगी ही नहीं, साथ ही रखती है सेहत का भी खयाल

पांच वक्त की नमाज़ पढ़ने वाले सभी मुसलमानों को ये जानकार हैरानी होगी कि नमाज़ पढ़कर वो फर्ज़ अदाएगी ही नहीं बल्कि अपनी सेहत को भी दुरुस्त बनाते हैं। रिसर्च में ये सामने आया है कि जब कोई शख़्स प्रतिदिन नमाज़ पढ़ते वक़्त गर्दन,कमर,घुटनों का मूवमेंट करता है तो इससे हृदय रोग के साथ ही मोटापे का खतरा नहीं रहता है।




नमाज़ पढ़ने से शरीर के निचले हिस्से में कमर दर्द की समस्या दूर हो जाती है शोध के मुताबिक रोज नमाज के दौरान जिस तरह के शारीरिक क्रियाएं की जाती है, वे जोड़ों के दर्द के लिए हितकारी होती हैं।




शोध के प्रमुख मोहम्मद खसवनेह ने बताया कि नमाज के दौरान की जाने वाली कुछ क्रियाएं योग और फिजिकल एक्सरसाइज जैसी ही होती हैं, जो कमर दर्द मे काफी लाभदायक होती हैं।