देशभर में मनायी जा रही बकरीद, जामा मस्जिद में सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर नमाज अदा की गई

Jama-masjid-

नई दिल्ली। देशभर में आज ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। दिल्ली स्थित जामा मस्जिद में लोगों ने शनिवार सुबह नमाज अदा की, दिल्ली की जामा मस्जिद में सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर नमाज अदा की गई।

Namaz Was Performed At 6 5 Am In Jama Masjid Celebrated In The Nation :

मस्जिद प्रसाशन ने की अपील नमाज अदा करते समय रखें उचित दूरी

कोरोना संकट के चलते जामा मस्जिद में नमाज अदा करने आए लोगों से बार-बार मस्जिद प्रसाशन ने दूरी बना कर नमाज अदा करने की अपील की, जामा मस्जिद में तैनात पुलिसकर्मियों ने थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही लोगों को मस्जिद में प्रवेश दिया। हालांकि जामा मस्जिद में नमाज के दौरान मिलीजुली तस्वीरें देखने को मिलीं। कोरोना संकट में कुछ नमाजी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आए तो वहीं कुछ इसका उल्लंघन करते भी नजर आए। मस्जिद में आगे बैठे लोग तो दूरी बना कर नमाज अदा कर रहे थे। लेकिन पीछे बैठे लोग बेहद नजदीक बैठकर नमाज अदा करते दिखे।

मस्जिद की सीढ़ियों पर बैठकर अदा की नमाज

कुछ लोगों ने मस्जिद की सीढ़ियों पर बैठकर भी नमाज अदा की, नमाज के बाद लोग जल्दबाजी में एक दूसरे से सटकर बाहर निकलते दिखे। कई बिना मास्क के मस्जिद में घूमते नजर आए, हालांकि लोगों ने माना कि कहीं न कहीं कुछ लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया है। उनका ये भी कहना था कि ज्यादातर लोगों ने नियमों का पालन किया। देरी से पहुंचने पर कुछ से नियमों का उल्लंघन हुआ।

बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व

बता दें कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा यानी बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व है। दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। ईद-उल फितर पर शीर खुरमा बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल जुहा पर बकरे या दूसरे जानवरों की कुर्बानी दी जाती है।

नई दिल्ली। देशभर में आज ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। दिल्ली स्थित जामा मस्जिद में लोगों ने शनिवार सुबह नमाज अदा की, दिल्ली की जामा मस्जिद में सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर नमाज अदा की गई।

मस्जिद प्रसाशन ने की अपील नमाज अदा करते समय रखें उचित दूरी

कोरोना संकट के चलते जामा मस्जिद में नमाज अदा करने आए लोगों से बार-बार मस्जिद प्रसाशन ने दूरी बना कर नमाज अदा करने की अपील की, जामा मस्जिद में तैनात पुलिसकर्मियों ने थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही लोगों को मस्जिद में प्रवेश दिया। हालांकि जामा मस्जिद में नमाज के दौरान मिलीजुली तस्वीरें देखने को मिलीं। कोरोना संकट में कुछ नमाजी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आए तो वहीं कुछ इसका उल्लंघन करते भी नजर आए। मस्जिद में आगे बैठे लोग तो दूरी बना कर नमाज अदा कर रहे थे। लेकिन पीछे बैठे लोग बेहद नजदीक बैठकर नमाज अदा करते दिखे।

मस्जिद की सीढ़ियों पर बैठकर अदा की नमाज

कुछ लोगों ने मस्जिद की सीढ़ियों पर बैठकर भी नमाज अदा की, नमाज के बाद लोग जल्दबाजी में एक दूसरे से सटकर बाहर निकलते दिखे। कई बिना मास्क के मस्जिद में घूमते नजर आए, हालांकि लोगों ने माना कि कहीं न कहीं कुछ लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया है। उनका ये भी कहना था कि ज्यादातर लोगों ने नियमों का पालन किया। देरी से पहुंचने पर कुछ से नियमों का उल्लंघन हुआ।

बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व

बता दें कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा यानी बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व है। दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। ईद-उल फितर पर शीर खुरमा बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल जुहा पर बकरे या दूसरे जानवरों की कुर्बानी दी जाती है।